मोटापा घटाने के 20 रहस्य



मोटापे से दुनिया की आज आधी आबादी परेशान है। मोटापा बढने के कई कारण हो सकते हैं। इनमें से प्रमुख है-अधिक चर्बी युक्त आहार का सेवन करना, कम व्यायाम करना और स्थिर जीवन-यापन करना, असंतुलित व्यवहार और मानसिक तनाव की वजह से लोग ज्यादा भोजन करने लगते हैं, जो मोटापा का कारण बनता है, शारीरिक क्रियाओं के सही ढंग से नहीं होने पर भी शरीर में चर्बी जमा होने लगती है, बाल्यावस्था और युवावस्था के समय का मोटापा वयस्क होने पर भी रह सकता है और हाइपोथाइरॉयडिज़्म आदि जैसे कारण मुख्य हैं। हम सभी मानते हैं कि यदि आप मोटे हैं तो कम खाइये और ज्यादा से ज्यादा व्यायाम कीजिये। पर ऐसा नहीं है, यदि ऐसा होता तो काफी लोग अपना वजन आसानी से कम कर चुके होते। अगर आप भी मोटापे का शिकार हैं और आपका वजन व्यायाम करने के बाद भी कम नहीं हो रहा है तो कहीं ना कहीं कुछ कमी रह गई है। यानी इसका यह मतलब नहीं है कि आप जरुरत से कम खाने लगे या फिर बहुत ज्यादा व्यायाम करने लगें। इसका यह मतलब होता है कि आपको अपनी लाइफ स्‍टाइल में कुछ मामूली और जरूरी परिवर्तन करने होंगे। आज हम आपको कुछ ऐसे ही आसान तरीके बताएंगे, जिन्हें अपना कर आप मोटापे से काफी हद तक छुटकारा पा सकते हैं। पर आप को ख्याल रखना होगा कि अगर आपको मोटापा घटाना है तो इसे नियमित करना होगा नहीं तो आपको केवल निराशा के और कुछ हासिल नहीं होगा।

जो भी लोग अपने दैनिक भोजन में क्षारीय तत्वों का अधिक सेवन करते हैं, उनके लिये अच्छी खबर-क्षारीय तत्वों का अधिक सेवन करते हैं-वजन को कम और जोड़ों के दर्द में आराम। आयुर्वेद की औषधियों में क्षार को औषधि के रूप में प्रयोग किया जाना भी उक्त बात की पुष्टि करता है। वैज्ञानिकों के अनुसार एल्कलायन पीएच (Alkaline Phosphatase) (क्षारीय फॉस्फेट) से युक्त आहार जिसमें फलों, सलाद, नारियल एवं बादाम का सेवन सम्मिलित है, आपकी पाचन क्षमता को ठीक रखने के साथ-साथ जोड़ों के दर्द एवं वजन कम करने में भी मददगार है। इस सिद्धांत के अनुसार हम जो कुछ भी खाते हैं, वह अंत में एक मिनरल एसिड या एल्कली (Mineral Acid or Alkali) (खनिज अम्ल या क्षार) के रूप में परिवर्तित हो जाता है। हमारे शरीर की आवश्यकता एल्कलायन यानी क्षार की ही होती है। अत: हमें अपने शरीर को अधिक एसिडयुक्त खाद्य पदार्थों के द्वारा होने वाले पीएच ओवरलोड से बचाने का प्रयास करना चाहिए। भोजन में अत्यधिक शर्करा, मांसाहार, शराब, डेरी प्रोडक्ट, ब्रेड इत्यादि के सेवन से हमें बचना चाहिए। अत्यधिक मात्रा में एसिड ओवरलोड को नयूट्रलायज करने के लिए, शरीर हड्डियों से कैल्शियम एवम् मैग्नीशियम को लेने लगता है, ताकि शरीर का पीएच लेबल ठीक रहे। अतः हमें भोजन में उन फलों, शाक-सब्जियों का अधिक प्रयोग करना चाहिए, जिससे शरीर का पीएच लेबल ठीक रहे। आगे से भोजन में लें क्षारीय तत्वों को अधिक, जिससे आपका पाचन सहित जोड़ों का दर्द एवं वजन रहेगा नियंत्रित।

मोटापा घटाने के 20 रहस्य
  • यदि आप ने मोटापा घटाने का प्‍लान नहीं बनाया तो समझिये कि आप कभी पतले नहीं हो सकते। एक असली गोल बनाइये कि आप कितने दिनों में कितना वजन कम कर सकते हैं। एक बात का ख्याल रखियेगा कि खुद को परेशानी में ना डालियेगा।
  • नींद मोटापे से लड़ती है। रिसर्च के मुताबिक 7 से 8 घंटों की कम नींद भूख पैदा करती है, जिससे आप जरूरत से ज्यादा खा लेते हैं और मोटापा बढ जाता है।
  • कई लोग खाना भी 4 टाइम खाएंगे और स्‍नैक्‍स भी। यदि आपको मिनट-मिनट पर स्‍नैक्‍स खाने की आदत है तो खाना थोड़ा कम खाइये, क्‍योंकि इससे शरीर में कैलोरीज बढ जाती है।
  • कई लोग बस दिन भर खाते रहते हैं और उन्‍हें पता ही नहीं होता कि वे कितना खाना खा जाते हैं। आपने दिन भर में कितना खाया उसका हिसाब रखिये।खूब चलिये: कार और बाइक होने के कारण बहुत से लोग पैर का उपयोग नहीं करते। वजन कम करने के लिये सीढ़ियों का प्रयोग करें। इसके अलावा अपना मन पसंद स्‍पोर्ट्स खेलें।
  • 65 प्रतिशत लोग शुगर वाला पेय या कोल्‍ड्रिक्‍स आदि बहुत पीते हैं, जिससे पेट तो भरता नहीं बल्कि कैलोरी अलग से मिलती हैं।
  • एक कडक डाइट पर जाना आपके दिमाग और शरीर पर दोनों पर ही भारी पड़ सकता है। इसलिये एक सफल डाइट प्‍लान पर टिके रहने के लिये हफ्ते में एक बार पिज्‍जा या चाउमीन खा सकते हैं। ऐसा करने से आप संतुष्ट बने रहेंगे और अपनी डाइट को अच्छे से फॉलो करेंगे।
  • यदि आप पुरुष हों या फिर महिला, भारी वजन उठाने से आपका फैट बर्न होगा। इससे माँसपेशियां बनती हैं और शरीर का मैटाबॉलिज्‍़म बढता है। जब आप भारी वजन उठाते हैं तो आप बहुत तेजी से कैलोरीज़ बर्न करने लगते हैं।
  • दोस्तों और रिश्तेदारों को खुद बताइये कि आप इन दिनों वजन कम कर रहे हैं, जिससे वे लोग भी आप का सपोर्ट करें।
  • एक दिन में कई तरह के व्यायाम करें जैसे, 5 मिनट कार्डियो ट्रेडमिल, बाइक करने के तुरंत बाद डंबेल सर्किट, स्‍ट्रेचिंग और बेंट ओवर रो करें। इन व्यायामों को 8 बार लगातार करें।
  • वेट लॉस करना है तो अपने आहार से पास्‍ता, चावल और ब्रेड आदि को हटा कर फल और सब्‍जियां शामिल करें। इससे अगर आप ज्‍यादा भी खाएंगे तो भी वजन नहीं बढेगा।
  • यदि आपके पास जिम के लिये पैसे नहीं हैं तो घर पर ही रस्‍सी कूदिये। पहले 50 बार कूदिये और बाद में उसे बढा कर 100 कर दीजिये।
  • एक्‍सरसाइज करते वक्‍त केवल 10 से 30 सेकेंड का ही रेस्‍ट लें।
  • यदि आप थका देने वाले व्‍यायामों को एक साथ मिला देंगे तो आपका वजन जल्‍दी कम होगा। यानी की पुशअप करते करते साथ में बुर्पी एक्‍सरसाइज कर लीजिये।
  • जो लोग दिन में दो से तीन बार खाना खाते हैं उन्‍हें हफ्ते में 1 दिन उपवास जरुर रखना चाहिये। यह एक अच्‍छी टेक्‍नीक है जिससे आप आराम से वजन कम कर सकते हैं।
  • खूब ज्‍यादा फैट खाइये: रिसर्च में बताया गया है कि आपके भोजन में लगभग 25 से 30 प्रतिशत तक वसा होना चाहिये। हाई फैट फूड जैसे, मेवे, एवोकाडो और तेल आदि आपको वजन कम करने में ज्‍यादा सहायता करेंगे। लेकिन अपने आहार में ट्रांस फैट यानी की जमा हुआ फैट ना लें।
  • प्रोटीन खाने से मासपेशियां बनती हैं और फैट बर्न होता है। इसके अलावा पेट भी भरा रहता है।
  • हम आपको शराबी बनने की हिदायत नहीं दे रहे हैं, बल्‍कि यह कह रहे हैं कि आप दिन भर में खूब सारा पानी पीजिये। इससे आपको भूख नहीं लगेगी और पेट भी भरा रहेगा। भोजन करने के पहले भी 1 गिलास पानी पीना चाहिये, इससे आप मोटापे से बचे रहेंगे।
  • कई लोगों को अपने भोजन में ठीक मात्रा में प्रोटीन नहीं मिल पाती तो ऐसे में उन्‍हें प्रोटीन शेक पीना चाहिये। जितना वजन हो उससे दो गुना प्रोटीन का सेवन करना उचित माना गया है।
वजन और मोटापा कम : अपनायें दस नुस्खे 
  • नीबू का रस 15 ग्राम, 15 ग्राम शहद व 125 ग्राम गरम पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट 2 या 3 महीने तक लगातार पीये मोटापा कम होगा।
  • अधिक मीठा व अधिक नमक न लें; नमक व मीठा दोनों एकदम बन्द कर देने से मोटापा तीव्रता से कम होता है।
  • तुलसी के पत्तों का रस 10 बूंद व दो चम्मच शहद एक गिलास पानी में मिलाकर कुछ दिन पीने से मोटापा कम होता है।
  • सोने से पहले कम से कम 2 घण्टा पहले भोजन करें।
  • खाने के बाद एक कप गरम पानी घूंट-घूंट चाय की तरह पीये, मोटापा कम होगा।
  • दही का सेवन करने से शरीर की फ़ालतू चर्बी कम होती है। अत: दूध के बजाय दही या मट्ठे का सेवन करें।
  • एक कप गाजर के रस में एक चौथाई कप पालक का रस मिलाकर पीयें, एक या दो महीने तक लगातार पीने से लाभ होगा।
  • पैदल घूमने जायें व साइकिलिंग करें! मोटापा घटाने वाले आसन करने से विशेष लाभ होता है। जैसे-उत्तानपदासन; हलासन, धनुरासन, भुजंगासन, सूर्य नमस्कार आदि। सूर्य नमस्कार एक पूर्ण व्यायाम है, जो शरीर के सभी अंगों को स्वस्थ रखता है व मोटापा कम करता है।
  • नित्य प्रात: प्राणायाम या व्यायाम करें; प्राणायाम करने से शरीर का मैटाबलिजम सिस्टम ठीक होता है।
  • अनामिका अंगुली के टौप भाग पर अंगूठे से दबाकर कम से कम 5 मिनट तक एक्यूप्रेशर करे; दिन में दो या तीन बार ऐसा कर सकते हैं! शरीर का वेट सन्तुलित रहेगा।


Share:

No comments: