सास को लेकर भागा दामाद बेटी(पत्नी) पहुची कानून के पास



कहते हैं इश्क पर कोई जोर नहीं चलता। यह कभी भी, कहीं भी और किसी से भी हो सकता है। इस बात को सच साबित कर दिखाया मध्य प्रदेश के एक दामाद और उसकी सास ने। इनके बीच ऐसा जबर्दस्त चक्कर चला कि सामाजिक मर्यादा को तिलांजलि दे दोनों घर से भाग निकले। यह दिलचस्प वाकया राज्य के सीहोर जिले में हुआ। कालीपीपल गांव के निवासी पप्पू मालवीय की शादी पास के एक गांव की लड़की से हुई। शादी के बाद पप्पू अपने ससुराल में ही रहने लगा। इस बीच पप्पू और उसकी सास की आंखें चार हुई और कुछ ही दिनों के बाद दोनों भाग गए। फिलहाल, दोनों भोपाल में रह रहे हैं। लेकिन इस सबसे के बीच पप्पू की पत्नी की जिंदगी तबाह हो गई। वह अपने पति को वापस पाने के लिए दर दर की ठोकरें खा रही है। उसने इस मामले में जिले के परिवार परामर्श केंद्र का दरवाजा भी खटखटाया है। केंद्र के पहले बुलावे को तो पप्पू और उसकी सास ने नजरंदाज कर दिया। दोनों दूसरे बुलावे पर बड़ी मुश्किल से पहुंचे, लेकिन उन्होंने एक दूसरे का साथ छोड़ने से साफ इनकार कर दिया। हालांकि, उन्होंने इस मुद्दे पर विचार के लिए कुछ समय मांगा है। केंद्र ने मामले की सुनवाई के लिए चार फरवरी की तिथि तय की है।


Share:

10 comments:

mahashakti said...

जाँच टिप्प्णी

संजय बेंगाणी said...

क्या टिप्पणी करें मियां?
जब माँ ही बेटी का घर उजाड़े, तो कोई क्या बोले.
और ऐसे पति के लिए क्या लड़ना, उसे सजा दिलवाने के लिए लड़ो.
एक पत्नि के रहते दुसरी शादी? कानून नाम की चीज है की नहीं? :)

Pratik said...

प्रमेन्द्र भाई, क्या बात है... आजकल अख़बार बड़ी तल्लीनता से पढ़ा जा रहा है!!! लगता है इम्तिहान आने वाले हैं :-)

Shrish said...

कमाल है जवान-जहान बीवी के होते बूढ़ी सास के चक्कर में फंस गया। और कमाल हैं उस सास के भी अपनी ही बेटी के सुहाग पर डाका मार दिया। घोर कलियुग आ गया भाई। पता नहीं अभी क्या-क्या होना बाकी है।

और हाँ आपके स्टैट देखे तो देखता हूँ कि Last 10 Vistor बाहर विदेशों से बोत तगड़ी-तगड़ी जगहों से आए थे। हिट हो गए भाई :)

Udan Tashtari said...

अब क्या कहें... :)खैर, खबर पर नजर रखे रहो, ४ फरवरी के बाद क्या हुआ, बताना. :)

Divine India said...

ऐसा भी हो सकता है…? क्या बदल रही है ये दुनियाँ !!

Neelima said...

अच्छा काव्य प्रयास है....संबंधों की सरलतम व्याख्या की है(हाइकू प्रयास में)..आपके प्रारंभिक ब्लॉगिंग अनुभवों की महगाथा भी पढी बात करते रहें

starchandra2007@rediff.com said...

dear' pramendra
aapke lekhan shali vastav me kaphi kuch sikhati hai. kyonki tumhare sath dekhne me; aur aaj site kolkar dekhne me kaphi antar mahsoos ho rha hai. thnk you
best of luck.

starchandra2007@rediff.com said...

dear' pramendra
aapke lekhan shali vastav me kaphi kuch sikhati hai. kyonki tumhare sath dekhne me; aur aaj site kolkar dekhne me kaphi antar mahsoos ho rha hai. thnk you
best of luck.

Anonymous said...

चुदाई सास की :)