विन्‍डोज लाइव राइटर का प्रयोग



काफी दिनों पहले इसके बारे मे सुना था और और प्रयोग करने की कोशिस भी किया किन्‍तु सफलता नही मिला। आज प्रात: श्री अफलातून जी ने फिर से इसके बारे मे बताया और मै इसका प्रयोग करने की ओर अग्रसर हुआ। आज यह पहला लेख इससे डालने जा रहा हूँ अभी सफलता की आशा कम ही है।
आज अफलातून जी ने बताया‍ कि इसमे ऑफ लाइन लिखकर आप अपने लेख को अपने ब्‍लाग पर डाल सकते है। यही देखने का प्रयास कर रहा हूँ कि यह चमत्‍कार होता है कि नही। मै अक्सर आँन लाइन होकर लेख लिखता हूँ और बिना पढ़े उसे पोस्‍ट कर देता हूँ। जिसके कारण मेरे लेखों मे व्‍याकराणात्‍म अशुद्धियॉं देखने को मिलती है। लाइव राइटर के कारण अब इस प्रकार की अशुद्धियॉं कम देखने को मिल सकती है।
पहले तो मै अक्‍सर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड पर लिख कर अपने ब्‍लाग पर जा कर पेस्‍ट कर देता था इससे भी गल्‍तियॉं कम होती थी। ठीक है अब मै इसे पोस्‍ट करने का प्रयास करता हूँ देखता हूँ कि यह होता है कि नही ।


Share:

5 comments:

mahashakti said...

लेख तो यहॉं पर आ गया

अफलातून जी का धन्‍यवाद,

Aflatoon said...

महाशक्तिमान, मुझसे पूर्व कई चिट्ठेकार बिल्लू कम्पनी के इस साधन के बारे में बता चुके थे,अपने चिट्ठों पर । आप इसका अनुभव आगे बताइयेगा । बधाई ।

संजय बेंगाणी said...

महाशक्ति भाई,

हम भी इसी साधन का प्रयोग करते है. :) एकदम मस्त है.

इससे आपकी पुरानी पोस्टे भी आपके कमप्युटर में सेव रहेगी. जरूरत पड़ने पर पूनर्प्रकाशन किया जा सकता है.

Udan Tashtari said...

इस अपार सफलता के लिये अनेकों बधाईयाँ. :)

Shrish said...

हे महाशक्तिमान मित्र हम भी इस यंत्र के प्रेमी हैं। हमने बहुत समय पहले इस यंत्र के बारे में ब्लॉगियाई जनता को जागरुक करने हेतु एक महापोस्ट लिखी थी। आप भी पढ़ें: विंडोज लाइव राइटर - समीक्षा तथा डाउनलोड

बहुत से ब्लॉगर बंधुओं को इसका चस्का लगाने का श्रेय हमको जाता है। :)