मै समीर लाल बोल रहा हूँ



वर्ष 2008 मेरी ब्‍लागिंग के लिये अब तक अच्‍छा ही जा रहा है। काफी कुछ अच्‍छा ही अच्‍छा घटित हो रहा है। आज श्री समीर लाल जी से मेरी बात हुई। पिछले दो दिनों से उनकी टिप्पणी का रैला देख कर लग रहा था कि उड़नतश्‍तरी कनाड़ा पहुँच गई। मन मे गुस्सा तो बहुत था कि इतने वायदे किया आज तक एक भी पूरा नही किया। चाहे वह कनाड़ा की बर्फ की तस्‍वीर हो, या हर पोस्‍ट पर टिप्‍पणी करने का वायदा या फिर भारत यात्रा के दौरान मिलने का, एक भी पूरा नही किया। गुस्‍से के मारे मन कर रहा था कि लालो के लाल श्री समीर लाल जी पर पोस्‍ट लिख दूँ किन्‍तु समय ही नही मिल रहा था। किन्‍तु आज एक फोन आया मुझे लगा कि यह कवि कुलवंत जी का होगा क्‍योकि वह आज ही आने वाले थे और पहुँचते ही फोन करने को कहा था, किन्‍तु जब आवाज आई कि मै समीर लाल बोल रहा हूँ तो खुशी का ठिकाना नही था। मेरी कुशलक्षेम पूछी और कुछ इधर उधर की गपशप हुई। अन्‍त में 27 तरीख को इलाहाबाद से गुजरेगें और फिर होगी एक और ब्‍लागर मीट इलाहाबाद जंक्‍शन पर। :) श्री समीर लाल जी ने ज्ञानजी को भी सूचित करने को कहा है रात काफी हो गई है अब उनको फोन कल ही करूँगा। पोस्‍ट खत्‍म होते होते कवि कुलवंत जी का भी फोन आ गया कल 11 बजे हिन्‍दुतानी एकेडमी में उनसे मिलने का कार्यक्रम बना है, जहॉं उन्‍हे सम्‍मानित किया जाना है। उन्‍हे सम्‍मानित किये जाने की हार्दिक बधाई।


Share:

6 comments:

Gyandutt Pandey said...

समीर मानव रत्न हैं।

Udan Tashtari said...

-आभार!!
-कवि कुलवंत को बहुत बधाई.
-ज्ञानजी-नमन करता हूँ-आपने तो शरमवा दिया. :)
-मैं 26 तारीख की हावड़ा-बाम्बे मेल से इलाहाबाद क्रास करुँगा

उन्मुक्त said...

कवि कुलवंत जी को बधाई

mamta said...

कुलवंत जी को बधाई।

और इस इलाहाबादी ब्लौगर मीट की रिपोर्ट का इंतजार रहेगा।

अविनाश वाचस्पति said...

मानव रत्न
या
ब्लाग रत्न
या
ब्लाग लाल.

अविनाश वाचस्पति said...

इलाहाबादी ब्लौगर मीट अमरूदों के साये में होगी, ऐसी उम्मीद है.