जन्‍मदिवस पर पंगेबाज को मिला मंत्रीपद, पाला बदलने से महत्‍वपूर्ण औहदो से नवाजे गये भगवा ब्‍लागर



आज प्रधानमंत्री मन मोहन सिंह की ओर से उनके निजी सचिव ने भारत के नम्‍बर एक चिट्ठाकार पंगेबाज को उनके 44 वें जन्‍मदिवस पर स्थिर सरकार का तौफहा भेजा। पंगेबाज के जन्‍मदिवस पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि अब हमें मजबूत सरकार के लिये आपका सर्मथन चाहिये। देश विनाश के लिये कांग्रेस में लोगो की बहुत कमी पड़ रही है, जब जाट शिरोमणि अजित सिंह को भी कांग्रेस में शामिल होने को कहा जा रहा है तो अब आप से वैर कैसे किया जा सकता है, हम आपको भी निमंत्रित कर रहे है। उन्‍होने कहा कि आपको कांग्रेस पर आने पर केवल सोनिया मैडम और राहुल जी की ही जय बोलना पड़ेगा हमारी नही भी करेगे तो भी कोई बात नही क्‍योकि और कोई भी नही करता है। जबकि भाजपा में अटल-अडवानी-जोशी-जसवंत-यशवंत-जेटली पता नही किसकी किसकी बोलना पड़ता जिसकी न बोलो वो नाराज और कट गया आपका टिकट। जबकि हमारी कांग्रेस पार्टी में मेरी भी क्‍या औकात कि किसी का टिकट काट दूँ ? और तो और राहुल बाबा और मैडम के अलावां किसी और कि तूती बोलती भी नही है।
 
राहुल गांधी ने वर्तमान चुनाव में चिट्ठाकारी के प्रभाव से बहुत प्रभावित हुये। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री को आदेश देते हुये कहा कि पंगेबाज के जन्‍मदिवस पर मौके की नजाकत को देखते हुये उन्‍हे बधाई दीजिए और आपने मंत्रालय में एक चिट्ठाकारी मंत्रालय की स्‍थापना कर उन्‍हे कै‍बीनेट स्‍तर के मंत्री के रूप में मंत्रीमंडल जगह दीजिए। राहुल गांधी का यह सोचना भी गलत नही है, क्‍योकि वर्तमान समय में हिन्‍दी चिट्ठकारी में करीब 10 हजार (करीब 5000प्रतिशत की बृद्धि )चिट्ठाकार हो चुके है जबकि 2006 तक से केवल 200 तक ही थे , और 2014 के आम चुनाव तक करीब 5 करोड़ हिन्‍दी ब्‍लागर हो जायेगे। जिनकी उपयोगिता के लिहाज से अंदेखा करना ठीक न होगा। पंगेबाज के निजी सचिव ने बताया कि पंगेबाज मंत्रीपद की शपथ लेने के लिये शपथ ग्रहण समारोह स्‍थल पर रवाना हो चुके है।
 
ममता, अजित, लालू, मुलायम, माया, पासवान, नीतीश,पवार, करूणानिधि जैसे विरोधियों को अपनी ओर करने से उत्‍साहित राहुल की नज़र अब भगवा ब्‍लागरों पर है। इसी को देखते हुये राहुल गांधी ने भगवा फायरब्राड़ ब्‍लागर सुरेश चिप्‍लूकर और प्रमेन्‍द्र प्रताप सिंह को भी मानवाधिकार आयोग और महिला आयोग की तर्ज पर चिट्टाकारी आयोग की स्‍थापना कर, क्रमश: अध्‍यक्ष और उपाध्‍यक्ष बना कर लाल बत्‍ती से नवाजने की की पेशकस कर काग्रेस से जोड़ने की कोशिश। सुरेश चिप्‍लूकर जी ने अपने ब्‍लाग पर लिखे, काग्रेस बिरोधी लेख न मिटने की शर्त रखने पर ही अध्‍यक्ष पद तो स्‍वीकार करने की बात कही, राहुल गांधी ने सुरेश जी से निवेदन करते हुये कहा कि आप सही है कि ब्‍लागरों के लेख उनकी अमूल्‍य निधि होते है वो उसे कैसे डिलीट कर कर सकते है, मै आपकी भावनाओं को समझ सकता हूँ, पर आपसे निवेदन है कि साईड बार में जो काग्रेस विरोधी लेखों के लिंक दौड़ रहे है उन्‍हे आप हटा दीजिए। सुरेश जी ने कहा कि इतना तो किया ही जा सकता है, लेख तो ब्‍लागरों के बेटे होते है उन्‍हे डिलीट करना बेटो का वध करना होगा, लिंक तो हटा ही सकते है, क्‍या हम अपने बेटो के बाल ओर नाखून आदि नही काटते ? 
 
महाशक्ति के प्रमेन्द्र उपाध्‍यक्ष पद पाने से खुश हो ही रहे थे कि चिट्ठाकारों विधि सलाहकार दिनेश राय द्विवेदी ने कहा कि प्रमेन्‍द्र आप तो विधि के छात्र हो आपको तो पता होना चाहिये कि किसी भी संवैधिनिक पद की पद को धारण करने की उम्र की सीमा 25 वर्ष की होती है, और अभी तुम 22 वर्ष के ही हो, अत: तुम अभी इस पद के लिये अयोग्य हो। न्याय विद् द्विवेदी ली की बात से प्रमेन्‍द्र तो कम राहुल बाबा बहुत दुखी हुये। उनका मानना था कि घोषणा के बाद युवा का नाम काटा जाना ठीक न होगा वोट पर बिपरीत प्रभाव पडेगा, अभी महाराष्‍ट्र के चुनाव भी होने वाले है, ऐसा खतरा लेना ठीक नही। उन्‍होने समाधान निकालते हुये प्रमेन्‍द्र को अखिल भारतीय चिट्ठकार कांग्रेस कमेटी का राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बना दिया। 
 
अभी खबर लिखे जाने तक पंगेबाज अपने 44 जन्‍मदिवस पर चिट्ठाकार मंत्री की शपथ ले चुके थे, चिट्ठाकार आयोग के प्रथम अध्‍यक्ष सुरेश जी भी अपने नये दफ्तर में बैठ झक्‍कास पोस्‍ट लिखने की तैयारी कर रहे थे उपध्‍यक्ष का पद हिन्‍दू चेतना के चंदन चौहान को देने की बात तय हुई, राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनने पर प्रमेन्‍द्र के महाशक्ति ब्‍लाग पर युवाओं का रैला टूट पड़ा। चिट्ठकारों में इस खबर से कांति के रूप में देखा जा रहा है। मंत्री व अध्‍यक्षों ने एक दूसरे को बधाई दी, ब्‍लागरों में भी पंगेबाज को जन्‍मदिवस व मंत्रीपद पाने पर बधाई देने की होड़ लगी थी। काफी वरिष्‍ठ ब्‍लागर अपने पुराने सम्‍बन्‍धों का हवाला देते हुये पिछले सम्‍बन्‍धो को हवाला देते हुये पिछले गेट से घुसकर बधाई देने की होड़ लगी थी। तथाकथित सेक्‍यूलर ब्‍लागर बदले मौहोल से हतप्रभ थे उन्‍होने भी स्‍वीकार किया कि हम संप्रदायिक भगवा ब्‍लागर क्‍यो न थे ?
 
इस पूरी खबर को कबर किया इलाहाबाद के पत्रकार और नये ब्‍लागर हिमांशु पान्‍डेय ने जो कल ही अपना ब्‍लाग मेरी आवाज सुनो के साथ चिट्ठाकारी में आये है, इनका भी टिप्‍पणी से स्वागत किया जाये। मीडिया की अलग अलग खबरों के हवाले से खबर है कि कांग्रेस की सर्वेसर्वा मैडम सोनिया ने प्रधानमंत्री पद का आफर किया था, पर पंगेबाज ने इंकार कर दिया है। चूकिं यह मीडिया है, खबरों के भिन्‍नता न हो तो मीडिया का मतलब ही नही पता चलेगा। :)


Share:

14 comments:

Nirmla Kapila said...

har bar ki tarah ye pangebaji baji mar le gayee kyon ki party ke neta laden ya na magar blogger jaroor lad rahe hain abhar

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

पंगेबाज जी को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाइयाँ। आज खूब मजे ले रहे हो। आप को भी मजा लेने और देने की बहुत बहुत बधाई।

अविनाश वाचस्पति said...

पंगामंत्री ही बनायेंगे न
और पंगा मंत्रालय
कहीं ऐसा न हो
भेद खोलने के चक्‍कर
में
एक बनाये दंगा मंत्रालय
दूसरा ...गा मंत्रालय
फिर गंगा का क्‍या होगा
फिर से मैली तो न हो जाएगी

जन्‍मदिन की महाशुभकामनायें

मैथिली said...

अच्छा किया कि पंगेबाज महाशय ने इन्कार कर दिया

चन्दन चौहान said...

पंगेबाज जी के 44 जन्‍मदिवस पर बधाई कांग्रेस के राज में आपको भी भय हो।

रही बात उपध्‍यक्ष पद की तो मैं इस से सतुष्ट नही हूँ मुझे कैबिनेट में जगह चाहिये साथ में मेरे 8 बेटों को भी लाल बत्ती चहिये। मेरे तीनों ससुर को तीन राज्य के राज्यपाल बनाईये (वे लोग बुठें हो गयें हैं इस से ज्यादा कुछ नही कर सकतें हैं) मेरे 17 सालों को राज्य मंत्री का पद चाहिये फिर जाकर समर्थन के बारें में सोचेंगे। अन्यथा हम चलें

निरन्तर- महेन्द्र मिश्र said...

पंगेबाज जी के 44 जन्‍मदिवस पर बधाई

रंजन said...

शुभकामनाऐं

"मुकुल:प्रस्तोता:बावरे फकीरा " said...

जी साहब कल ही श्रीमती जी ने झक्क सुपेत [सफ़ेद-झक्क] शर्त खरीदवाया है सो अपुन तो टोटल फारिग
हाँ सो इब पंगे बाज जी के 44 जन्‍मदिवस
की हार्दिक बधाइयां एक टिरक में भेज रहा हूँ
उतरवा लेना जी
मेरे ब्लॉग बावरे-फकीरा ब्लॉग पे एक गाना लादा है सुन लेना जी

अनूप शुक्ल said...

अरुण अरोरा को जन्मदिन की बधाई!

संजय बेंगाणी said...

हम से कहा गया, सब पा रहे है आप भी पद पा लो. हमने कहा, विचारों से समझौता नहीं हो सकता. विपक्ष में बैठेंगे :)

पंगेबाज को बधाई...

Anil Pusadkar said...

पंगेबाज को जन्म दिवस की बधाई।

RC Mishra said...

बधाई हो प्रमेन्द्र भारत उदय डॉट इन की!

विनय said...

भई बढ़िया रहा और ज़्यादा क्या कहूँ

Kashif Arif said...

पंगेबाज़ जी को उन्के जन्मदिन की बधाई, सुरेश जी, और आपको आपके पद मुबारक हो...मुझे उम्मीद है की आप काग्रेंस की पार्टी की वाट लगाकर वापस आ जायेंगे। मुझे आपके उस लेख का इन्तेज़ार है