What An Idea एडसेंस प्रकाशकों के लिये गुड न्‍यूज़ बचेगे हजारो रूपये



आज Google Adsense (गूगल एडसेंस) के आधिकारिक ब्‍लाग पर जाना हुआ। वहाँ पर गूगल ने भारत में अपने मुद्रा भुगतान के सम्‍बन्‍ध में अपनी प्रवृष्टि जारी किया है। जैसा कि आपको पता होगा कि Google Adsense भारत में भुगतान साधारण वितरण व Standard Delivery पद्धति से करता था। जहाँ साधारण वितरण के लिये कोई शुल्‍क नही लिया जाता था वही Standard Delivery के लिये DHL Courier का प्रयोग करता था जिसके लिये 25 डालर पहले से काट लेता था।
 
वर्तमान समय में गूगल ने अपनी सुविधाओं में वृद्धि करते हुये, Blue Dart courier के द्वारा बिना एक भी पैसा लिये आपके चेको का भुगतान किया जायेगा। निश्चित रूप से भारत में Google Adsense के द्वारा उठाया जाने वाला एक बेहतर कदम है। भारत के सम्‍बन्‍ध में गूगल के इस कदम से Google Adsense कमाई करने वालो के 25 डालर तो बचेगे। अब तो कमाई करने वालो के मन में इस बात को भी प्रोत्‍साहन मिलेगा कि गूगल जल्‍द ही भारत के इन्‍टर नेट की भूमिका को नजर आदंज नही करेगा। जैसा कि पूर्व में भारत से पहले इंडोनेशिया छोटे देश में Electronic Clearing Service (ECS) शुरू करने पर भारतीय ब्‍लागरों ने रोष व्‍यक्‍त किया था। अब भारतीय ब्‍लागर भी आने वाले कुछ महीनो मे Electronic Clearing Service (ECS) के द्वारा सीधे भुगतान प्राप्‍त करने का स्‍वप्‍न देख सकते है और जल्‍द ही यह स्‍वप्‍न साकार भी होगा।
 
चलते चलते - चुनावी महासमर समाप्‍त हो चुका है। मतगणना की समाप्‍ति के साथ ही मेरी परीक्षा की तिथियाँ भी शुरू हो रही है। एक महान सेक्‍यूलर ब्‍लागर फिर सनक गया है, सनक उनकी आदतो में सुमार है, उसे सिर्फ ''मै'' का भ्रम है, उसके इस ''मै'' के भ्रम को कई बार तोड़ा था और फिर तोड़ूँगा, मै सलाह दूँगा धमंड और शक्ति का बेअर्थ प्रदर्शन ठीक नही। वो बार बार अपनी शक्ति के प्रदर्शन के पागलपन में मधुमक्‍खी के छत्‍ते पर ईट मार रहा है, अभी मधुमक्‍खी व्‍यस्‍त है , मामला बाद मे देखा जायेगा।


Share:

7 comments:

निरन्तर- महेन्द्र मिश्र said...

बहुत ही बढ़िया जानकारी दी है प्रेमेन्द्र जी . धन्यवाद.

Anonymous said...

चलते चलते ससुरे का नाम तो बताना था

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

सुंदर जानकारी!

अखिलेश्‍वर पांडेय said...

पैसा बचाने का टोटका अच्‍छा लगा।

Udan Tashtari said...

चलो ये जानकारी मिली!!

Suresh Chiplunkar said...

हे हे हे हे कैसी बात कर दी भाई, "सेकुलर" ब्लॉगर हो और उसमें "मैं" का तत्व ना हो ये कैसे हो सकता है… खैर जब आप फ़्री हो जायें तब उससे निपटें, हम इन्तज़ार करेंगे… :)

Nitish Raj said...

जानकारी अच्छी थी पर मैं तत्व के बारे में यानी आगे पढ़ने को मिलेगा ही।