अंतर्राष्ट्रीय सदमा



विश्व के ख्‍यातिलब्‍ध पॉप गायक माईकल जैक्सन की 50 वर्ष की आयु में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। माईकल अपने जीवन काल में हमेंशा चर्चित रहे, भले ही बुराईयो ने उनका साथ न छोड़ा हो किन्‍तु अपनी प्रसशको समक्ष भगवान से कम नही थे। इस गायक की मौत की खबर पढ़कर वकई मै भी हतप्रभ हूँ और ईश्‍वर से आत्‍मा की शान्ति प्रार्थना करता हूँ।
माइकल जैक्सन ने अपना संगीत करियर अपने परिवार के पॉप ग्रुप द जैक्सन फ़ाइव के साथ शुरू किया था। 1982 में रिलीज़ हुआ उनका संगीत अलबम थ्रिलर अब तक का सबसे ज़्यादा बिकने वाले अलबम है। माइकल जैक्सन ने ब्रिटेन में भी कई बेहतरीन संगीत अलबम बनाए थे और 13 ग्रैमी अवार्ड्स भी जीते थे। अपने कैरियर मे बच्‍चो के साथ शारीरिक शोषण के मामले में दोषी भी पाये गये थे। विवादो में बीच में वो ऐस शक्स था जो विश्व के संगीत पटल पर हमेशा छाया रहा। आपके समक्ष माईकल का ही मर्म स्‍पर्शी गीत Heel the world रख रहा हूँ जो मुझे भी बहुत अच्‍छा लगता है और अगर मै माईकल को पंसद करता हूं तो सिर्फ Michael Jackson के गीत Heel the world के कारण ही।



इस गाने के सुनते समय मेरे आँखे में आँसू है, पता नही क्‍यो ?


Share:

4 comments:

राज भाटिय़ा said...

राम राम यह क्या हो गया ??

कृष्ण मोहन मिश्र said...

राज भाटिया जी राम नाम सत्य होगया बेचारा का । इसीलिए बड़े बजुर्ग कह गये हैं कि फैशन के दौर में गारंटी की इच्छा मत पालिये । छोरे को प्लास्टिक सर्जरी का बुरा शौक था । उसी शौक में दुनिया से सिधार गया बेचारा ।

ईश्वर इसकी आत्मा को शांति प्रदान करे । हलांकि इस डेन्जरस किस्म की आत्मा के ऊपर पहुंचते ही वहां की शाति को खतरा पैदा हो जायेगा। नाचता अच्छा था ।

पन्चायती said...

"अंतर्राष्ट्रीय सदमा"?????? हलांकि नाचता अच्छा था ।

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

भइया इस बन्दे पर तो कोई प्रतिक्रिया नहीं। अपनी तो समझ में न आता था।