क्षत्रिय- राजपूत के गोत्र और उनकी वंशावली



राजपूतोँ के वंश
----------------
"दस रवि से दस चन्द्र से बारह ऋषिज प्रमाण, 
चार हुतासन सों भये कुल छत्तिस वंश प्रमाण,
 भौमवंश से धाकरे टांक नाग उनमान, 
चौहानी चौबीस बंटि कुल बासठ वंश प्रमाण."
क्षत्रिय- राजपूत के गोत्र और उनकी वंशावली
अर्थ:-दस सूर्य वंशीय क्षत्रिय दस चन्द्र वंशीय,बारह ऋषि वंशी एवं चार अग्नि वंशीय कुल छत्तिस क्षत्रिय वंशों का प्रमाण है,बाद में भौमवंश नागवंश क्षत्रियों को सामने करने के बाद जब चौहान वंश चौबीस अलग अलग वंशों में जाने लगा तब क्षत्रियों के बासठ अंशों का पमाण मिलता है।



सूर्य वंश की दस शाखायें:-
--------------------------
१.कछवाह, २.राठौड, ३.बडगूजर, ४.सिकरवार, ५.सिसोदिया, ६.गहलोत, ७.गौर, ८.गहलबार, ९.रेकबार, १०.जुनने, ११.बैस
चन्द्र वंश की दस शाखायें:-
---------------------------
१.जादौन, २.भाटी, ३.तोमर, ४.चन्देल, ५.छोंकर, ६.होंड, ७.पुण्डीर, ८.कटैरिया, ९.दहिया,


अग्निवंश की चार शाखायें:-
----------------------------
१.चौहान, २.सोलंकी, ३.परिहार, ४.पमार


ऋषिवंश की बारह शाखायें:-
----------------------------
१.सेंगर, २.दीक्षित, ३.दायमा, ४.गौतम, ५.अनवार (राजा जनक के वंशज), ६.विसेन, ७.करछुल, ८.हय, ९.अबकू तबकू, १०.कठोक्स, ११.द्लेला १२.बुन्देला


चौहान वंश की चौबीस शाखायें:-
----------------------------
१.हाडा, २.खींची, ३.सोनीगारा, ४.पाविया, ५.पुरबिया, ६.संचौरा, ७.मेलवाल, ८.भदौरिया, ९.निर्वाण, १०.मलानी, ११.धुरा, १२.मडरेवा, १३.सनीखेची, १४.वारेछा, १५.पसेरिया, १६.बालेछा, १७.रूसिया, १८.चांदा, १९.निकूम, २०.भावर, २१.छछेरिया, २२.उजवानिया, २३.देवडा, २४.बनकर
यदु वंश
---------
रघु वंश
---------
नाग वंश
----------
राजपूत नाम, गोत्र , वंश, स्थान और जिला की सूची
--------------------------

क्रमांक नाम गोत्र वंश स्थान और जिला
१. सूर्यवंशी भारद्वाज सूर्य बुलन्दशहर आगरा मेरठ अलीगढ
२. गहलोत बैजवापेण सूर्य मथुरा कानपुर और पूर्वी जिले
३. सिसोदिया बैजवापेड सूर्य महाराणा उदयपुर स्टेट
४. कछवाहा मानव सूर्य महाराजा जयपुर और ग्वालियर राज्य
५. राठोड कश्यप सूर्य जोधपुर बीकानेर और पूर्व और मालवा
६. सोमवंशी अत्रय चन्द प्रतापगढ और जिला हरदोई
७. यदुवंशी अत्रय चन्द राजकरौली राजपूताने में
८. भाटी अत्रय जादौन महारजा जैसलमेर राजपूताना
९. जाडेचा अत्रय यदुवंशी महाराजा कच्छ भुज
१०. जादवा अत्रय जादौन शाखा अवा. कोटला ऊमरगढ आगरा
११. तोमर व्याघ्र चन्द पाटन के राव तंवरघार जिला ग्वालियर
१२. कटियार व्याघ्र तोंवर धरमपुर का राज और हरदोई
१३. पालीवार व्याघ्र तोंवर गोरखपुर
१४. परिहार कौशल्य अग्नि इतिहास में जानना चाहिये
१५. तखी कौशल्य परिहार पंजाब कांगडा जालंधर जम्मू में
१६. पंवार वशिष्ठ अग्नि मालवा मेवाड धौलपुर पूर्व मे बलिया
१७. सोलंकी भारद्वाज अग्नि राजपूताना मालवा सोरों जिला एटा
१८. चौहान वत्स अग्नि राजपूताना पूर्व और सर्वत्र
१९. हाडा वत्स चौहान कोटा बूंदी और हाडौती देश
२०. खींची वत्स चौहान खींचीवाडा मालवा ग्वालियर
२१. भदौरिया वत्स चौहान नौगंवां पारना आगरा इटावा गालियर
२२. देवडा वत्स चौहान राजपूताना सिरोही राज
२३. शम्भरी वत्स चौहान नीमराणा रानी का रायपुर पंजाब
२४. बच्छगोत्री वत्स चौहान प्रतापगढ सुल्तानपुर
२५. राजकुमार वत्स चौहान दियरा कुडवार फ़तेहपुर जिला
२६. पवैया वत्स चौहान ग्वालियर
२७. गौर,गौड भारद्वाज सूर्य शिवगढ रायबरेली कानपुर लखनऊ
२८. बैस भारद्वाज सूर्य उन्नाव रायबरेली मैनपुरी पूर्व में
२९. गेहरवार कश्यप सूर्य माडा हरदोई उन्नाव बांदा पूर्व
३०. सेंगर गौतम ब्रह्मक्षत्रिय जगम्बनपुर भरेह इटावा जालौन
३१. कनपुरिया भारद्वाज ब्रह्मक्षत्रिय पूर्व में राजाअवध के जिलों में हैं
३२. बिसैन वत्स ब्रह्मक्षत्रिय गोरखपुर गोंडा प्रतापगढ में हैं
३३. निकुम्भ वशिष्ठ सूर्य गोरखपुर आजमगढ हरदोई जौनपुर
३४. सिरसेत भारद्वाज सूर्य गाजीपुर बस्ती गोरखपुर
३५. कटहरिया वशिष्ठ्याभारद्वाज, सूर्य बरेली बंदायूं मुरादाबाद शहाजहांपुर
३६. वाच्छिल अत्रयवच्छिल चन्द्र मथुरा बुलन्दशहर शाहजहांपुर
३७. बढगूजर वशिष्ठ सूर्य अनूपशहर एटा अलीगढ मैनपुरी मुरादाबाद हिसार गुडगांव जयपुर
३८. झाला मरीच कश्यप चन्द्र धागधरा मेवाड झालावाड कोटा
३९. गौतम गौतम ब्रह्मक्षत्रिय राजा अर्गल फ़तेहपुर
४०. रैकवार भारद्वाज सूर्य बहरायच सीतापुर बाराबंकी
४१. करचुल हैहय कृष्णात्रेय चन्द्र बलिया फ़ैजाबाद अवध
४२. चन्देल चान्द्रायन चन्द्रवंशी गिद्धौर कानपुर फ़र्रुखाबाद बुन्देलखंड पंजाब गुजरात
४३. जनवार कौशल्य सोलंकी शाखा बलरामपुर अवध के जिलों में
४४. बहरेलिया भारद्वाज वैस की गोद सिसोदिया रायबरेली बाराबंकी
४५. दीत्तत कश्यप सूर्यवंश की शाखा उन्नाव बस्ती प्रतापगढ जौनपुर रायबरेली बांदा
४६. सिलार शौनिक चन्द्र सूरत राजपूतानी
४७. सिकरवार भारद्वाज बढगूजर ग्वालियर आगरा और उत्तरप्रदेश में
४८. सुरवार गर्ग सूर्य कठियावाड में
४९. सुर्वैया वशिष्ठ यदुवंश काठियावाड
५०. मोरी ब्रह्मगौतम सूर्य मथुरा आगरा धौलपुर
५१. टांक (तत्तक) शौनिक नागवंश मैनपुरी और पंजाब
५२. गुप्त गार्ग्य चन्द्र अब इस वंश का पता नही है
५३. कौशिक कौशिक चन्द्र बलिया आजमगढ गोरखपुर
५४. भृगुवंशी भार्गव चन्द्र वनारस बलिया आजमगढ गोरखपुर
५५. गर्गवंशी गर्ग ब्रह्मक्षत्रिय नृसिंहपुर सुल्तानपुर
५६. पडियारिया, देवल,सांकृतसाम ब्रह्मक्षत्रिय राजपूताना
५७. ननवग कौशल्य चन्द्र जौनपुर जिला
५८. वनाफ़र पाराशर,कश्यप चन्द्र बुन्देलखन्ड बांदा वनारस
५९. जैसवार कश्यप यदुवंशी मिर्जापुर एटा मैनपुरी
६०. चौलवंश भारद्वाज सूर्य दक्षिण मद्रास तमिलनाडु कर्नाटक में
६१. निमवंशी कश्यप सूर्य संयुक्त प्रांत
६२. वैनवंशी वैन्य सोमवंशी मिर्जापुर
६३. दाहिमा गार्गेय ब्रह्मक्षत्रिय काठियावाड राजपूताना
६४. पुण्डीर कपिल ब्रह्मक्षत्रिय पंजाब गुजरात रींवा यू.पी.
६५. तुलवा आत्रेय चन्द्र राजाविजयनगर
६६. कटोच कश्यप भूमिवंश राजानादौन कोटकांगडा
६७. चावडा,पंवार,चोहान,वर्तमान कुमावत वशिष्ठ पंवार की शाखा मलवा रतलाम उज्जैन गुजरात मेवाड
६८. अहवन वशिष्ठ चावडा,कुमावत खेरी हरदोई सीतापुर बारांबंकी
६९. डौडिया वशिष्ठ पंवार शाखा बुलंदशहर मुरादाबाद बांदा मेवाड गल्वा पंजाब
७०. गोहिल बैजबापेण गहलोत शाखा काठियावाड
७१. बुन्देला कश्यप गहरवारशाखा बुन्देलखंड के रजवाडे
७२. काठी कश्यप गहरवारशाखा काठियावाड झांसी बांदा
७३. जोहिया पाराशर चन्द्र पंजाब देश मे
७४. गढावंशी कांवायन चन्द्र गढावाडी के लिंगपट्टम में
७५. मौखरी अत्रय चन्द्र प्राचीन राजवंश था
७६. लिच्छिवी कश्यप सूर्य प्राचीन राजवंश था
७७. बाकाटक विष्णुवर्धन सूर्य अब पता नहीं चलता है
७८. पाल कश्यप सूर्य यह वंश सम्पूर्ण भारत में बिखर गया है
७९. सैन अत्रय ब्रह्मक्षत्रिय यह वंश भी भारत में बिखर गया है
८०. कदम्ब मान्डग्य ब्रह्मक्षत्रिय दक्षिण महाराष्ट्र मे हैं
८१. पोलच भारद्वाज ब्रह्मक्षत्रिय दक्षिण में मराठा के पास में है
८२. बाणवंश कश्यप असुरवंश श्री लंका और दक्षिण भारत में,कैन्या जावा में
८३. काकुतीय भारद्वाज चन्द्र,प्राचीन सूर्य था अब पता नही मिलता है
८४. सुणग वंश भारद्वाज चन्द्र,पाचीन सूर्य था, अब पता नही मिलता है
८५. दहिया कश्यप राठौड शाखा मारवाड में जोधपुर
८६. जेठवा कश्यप हनुमानवंशी राजधूमली काठियावाड
८७. मोहिल वत्स चौहान शाखा महाराष्ट्र मे है
८८. बल्ला भारद्वाज सूर्य काठियावाड मे मिलते हैं
८९. डाबी वशिष्ठ यदुवंश राजस्थान
९०. खरवड वशिष्ठ यदुवंश मेवाड उदयपुर
९१. सुकेत भारद्वाज गौड की शाखा पंजाब में पहाडी राजा
९२. पांड्य अत्रय चन्द अब इस वंश का पता नहीं
९३. पठानिया पाराशर वनाफ़रशाखा पठानकोट राजा पंजाब
९४. बमटेला शांडल्य विसेन शाखा हरदोई फ़र्रुखाबाद
९५. बारहगैया वत्स चौहान गाजीपुर
९६. भैंसोलिया वत्स चौहान भैंसोल गाग सुल्तानपुर
९७. चन्दोसिया भारद्वाज वैस सुल्तानपुर
९८. चौपटखम्ब कश्यप ब्रह्मक्षत्रिय जौनपुर
९९. धाकरे भारद्वाज(भृगु) ब्रह्मक्षत्रिय आगरा मथुरा मैनपुरी इटावा हरदोई बुलन्दशहर
१००. धन्वस्त यमदाग्नि ब्रह्मक्षत्रिय जौनपुर आजमगढ वनारस
१०१. धेकाहा कश्यप पंवार की शाखा भोजपुर शाहाबाद
१०२. दोबर(दोनवर) वत्स या कश्यप ब्रह्मक्षत्रिय गाजीपुर बलिया आजमगढ गोरखपुर
१०३. हरद्वार भार्गव चन्द्र शाखा आजमगढ
१०४. जायस कश्यप राठौड की शाखा रायबरेली मथुरा
१०५. जरोलिया व्याघ्रपद चन्द्र बुलन्दशहर
१०६. जसावत मानव्य कछवाह शाखा मथुरा आगरा
१०७. जोतियाना(भुटियाना) मानव्य कश्यप,कछवाह शाखा मुजफ़्फ़रनगर मेरठ
१०८. घोडेवाहा मानव्य कछवाह शाखा लुधियाना होशियारपुर जालन्धर
१०९. कछनिया शान्डिल्य ब्रह्मक्षत्रिय अवध के जिलों में
११०. काकन भृगु ब्रह्मक्षत्रिय गाजीपुर आजमगढ
१११. कासिब कश्यप कछवाह शाखा शाहजहांपुर
११२. किनवार कश्यप सेंगर की शाखा पूर्व बंगाल और बिहार में
११३. बरहिया गौतम सेंगर की शाखा पूर्व बंगाल और बिहार
११४. लौतमिया भारद्वाज बढगूजर शाखा बलिया गाजी पुर शाहाबाद
११५. मौनस मानव्य कछवाह शाखा मिर्जापुर प्रयाग जौनपुर
११६. नगबक मानव्य कछवाह शाखा जौनपुर आजमगढ मिर्जापुर
११७. पलवार व्याघ्र सोमवंशी शाखा आजमगढ फ़ैजाबाद गोरखपुर
११८. रायजादे पाराशर चन्द्र की शाखा पूर्व अवध में
११९. सिंहेल कश्यप सूर्य आजमगढ परगना मोहम्दाबाद
१२०. तरकड कश्यप दीक्षित शाखा आगरा मथुरा
१२१. तिसहिया कौशल्य परिहार इलाहाबाद परगना हंडिया
१२२. तिरोता कश्यप तंवर की शाखा आरा शाहाबाद भोजपुर
१२३. उदमतिया वत्स ब्रह्मक्षत्रिय आजमगढ गोरखपुर
१२४. भाले वशिष्ठ पंवार अलीगढ
१२५. भालेसुल्तान भारद्वाज वैस की शाखा रायबरेली लखनऊ उन्नाव
१२६. जैवार व्याघ्र तंवर की शाखा दतिया झांसी बुन्देलखंड
१२७. सरगैयां व्याघ्र सोमवंश हमीरपुर बुन्देलखण्ड
१२८. किसनातिल अत्रय तोमरशाखा दतिया बुन्देलखंड
१२९. टडैया भारद्वाज सोलंकीशाखा झांसी ललितपुर बुन्देलखंड
१३०. खागर अत्रय यदुवंश शाखा जालौन हमीरपुर झांसी
१३१. पिपरिया भारद्वाज गौडों की शाखा बुन्देलखंड
१३२. सिरसवार अत्रय चन्द्र शाखा बुन्देलखंड
१३३. खींचर वत्स चौहान शाखा फ़तेहपुर में असौंथड राज्य
१३४. खाती कश्यप दीक्षित शाखा बुन्देलखंड,राजस्थान में कम संख्या होने के कारण इन्हे बढई गिना जाने लगा
१३५. आहडिया बैजवापेण गहलोत आजमगढ
१३६. उदावत बैजवापेण गहलोत आजमगढ
१३७. उजैने वशिष्ठ पंवार आरा डुमरिया
१३८. अमेठिया भारद्वाज गौड अमेठी लखनऊ सीतापुर
१३९. दुर्गवंशी कश्यप दीक्षित राजा जौनपुर राजाबाजार
१४०. बिलखरिया कश्यप दीक्षित प्रतापगढ उमरी राजा
१४१. डोमरा कश्यप सूर्य कश्मीर राज्य और बलिया
१४२. निर्वाण वत्स चौहान राजपूताना (राजस्थान)
१४३. जाटू व्याघ्र तोमर राजस्थान,हिसार पंजाब
१४४. नरौनी मानव्य कछवाहा बलिया आरा
१४५. भनवग भारद्वाज कनपुरिया जौनपुर
१४६. गिदवरिया वशिष्ठ पंवार बिहार मुंगेर भागलपुर
१४७. रक्षेल कश्यप सूर्य रीवा राज्य में बघेलखंड
१४८. कटारिया भारद्वाज सोलंकी झांसी मालवा बुन्देलखंड
१४९. रजवार वत्स चौहान पूर्व मे बुन्देलखंड
१५०. द्वार व्याघ्र तोमर जालौन झांसी हमीरपुर
१५१. इन्दौरिया व्याघ्र तोमर आगरा मथुरा बुलन्दशहर
१५२. छोकर अत्रय यदुवंश अलीगढ मथुरा बुलन्दशहर
१५३. जांगडा वत्स चौहान बुलन्दशहर पूर्व में झांसी
१५४. वाच्छिल, अत्रयवच्छिल, चन्द्र, मथुरा बुलन्दशहर शाहजहांपुर  


नोट - 1. क्षत्रियों का इतिहास गौरव शाली है और पूर्व मे और भी विस्‍तृत रहा है। इस लेख का प्राप्‍त जानकारी के आधार पर तैयार किया गया है। अगर आपके हिसाब से कोई त्रुटि या सुधार सम्‍भव हो तो कमेन्‍ट के माध्‍यम से जरूर रखे त्रुटि को दूर किया जायेगा।
2. अगर कोई क्षत्रिय-राजपूत शाखा इसमे नही जुडी है तो उसे भी अवगत कराये उसे भी सही श्रेणी मे जोड़ा जायेगा ताकि अपने नये क्षत्रिय भाई अपने इतिहास से अवगत हो सके। 
इस काम मे आपके सहयोग की अपेक्षा है और बिना समूहिक सहयोग के यह सम्‍भव भी नही है। 

धन्‍यवाद सहित

अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट  


Share:

84 comments:

Kheev singh solanki said...

Kheev singh

Kheev singh solanki said...

Kheev singh

Unknown said...

Rava Rajput status??

Unknown said...

Please correct Bais Rajputs are Suryavanshi Rajputs
You mentioned them as chandravanshi
Thanks
S.N.Singh

Bhawani Rajput said...

Bhai mere ko gautam rajput k bare me btao plz

Ashish Singh nice said...

Lauthamia rajput kaha gya

sunil gameal thakur said...

gamly tahkur

Anonymous said...

Just a claim not real.... Chauhan are self acclaimed Rajput cast they are neither described as Kshatriya.....
Bharat don't have Rajput system. These are term given by Britishers...Surya/Chandravansh have no relation with them..

santosh said...

Where is somvanshi

Unknown said...

Very nice

Anonymous said...

Want to know about the Nirwan Rajputs?? N everything about them.. Plz help me out..

Nirbadh Ngo said...

Not complete report noted here,should be surch & extend.

Nirbadh Ngo said...

Not complete report noted here,should be surch & extend.

Unknown said...

Not finding Marwar rajputs of vats gotra

rabindra pratap Singh said...

WD like to know about Marwar rajputs having vats gotra

Unknown said...

Sir rava rajput ke liye kuch bataiye enke baghpat. Mujjafar agar. Or Bijnor u.p.86 villege hai

Kamini Pavar said...

I think Pawar gotra is goud.

Abhishek Singh said...

Gaharwar bans is missing in the list please include this.

Anonymous said...

Jayas is not a branch of rathore.

mukul verma said...

lodhi kya hai ?

mukul verma said...

lodhi rajput kaha gye ?

Kamlesh Singh said...

We belong from azamgarh district up distwar rajput gotra kashyap. We are 52 village between chirriyacot bazar and Kahana ganja bazar in 15km range. Village name bhujahi, lapasipur, jairampur, tulshipur, hathota, khanpur, bohana, parashi, rajapur, tilshwa etc

Anonymous said...

You forgot Rawat

ARJUN SINGH RATHORE said...

Duggal and bagri Rajput hotel h kaya plz update

Unknown said...

Bhai pariharo ka gotta kaushik hai

UMESH SINGH said...

No information about gaiye Rajput vatsa gotra.please correct it

Unknown said...

Ahivan rajput garg gotra
Place lakhimpur mitauli state (1857) sitapur bisvan hardoi farukha baad
it migrated from anhilvada gujrat

ravi singh tanwar said...

Tanwar rajput khata ha bhaya

Suraj Pratap Singh said...

Sir, what about kurmavanshi kshatriya ,. Scion of King kurma who ruled on rohtasgarh, tell me about more

Unknown said...

We like to know about dekha rajpoot having kutch gotra

Unknown said...

बांगर के बारे मे बताये

chitra jadeja said...

Fine..

Unknown said...

Lodhi rajput ki gotra ke bare me bhi likhe

kamlesh singh said...

pls update raghuvansi raajpoot in jaunpur district uttar pradesh

Unknown said...

Add suryavanshi place faizabad basti

Unknown said...

Basically Ara bihar shajanbad baliya me paye jate hai

Mayank Singh said...

Does nag lakshya gotra exist?

Deepa singh said...

Kya koi kaundilya gottra b exist krta h Rajputo me??

Deepa singh said...

Kya kaundilya gottra bhi hota h Rajputo me??
Plz jldi bataye??

Unknown said...

परिहार वंश का पूरी जानकारी भी उपलब्ध कराये

Rana Pratap Singh Parihar said...

परिहार वंश का पूरी जानकारी भी उपलब्ध कराये

Rana Pratap Singh Parihar said...

परिहार वंश की पूरी जानकरी दे

Dhanpal Singh Ranawat said...

राणावत राजपूत का इतिहास

AAIYEE HASHTEY HAI said...

Gadariya vansh ki Puri jankari de bhai

Ashvin Verma said...

Chatrapati shavaji maharaj ke vanshaj suryavanshi kurmi kshatriye kha gye

SANJU CHAUHAN said...

Chauhan Khatik Gotra Rajasthan Mewad Pali Falna

Harshad Deshmukh said...

हाडा खानदान के एक शाखा दख्खन मे आइ है उसके बारे मे जानकारी चाहिए

Harshad Deshmukh said...

हाडा खानदान की एक शाखा दख्खन में आइ है उसके बारे मे जानकारी चाहिए

Anonymous said...

Kya koi Jaswal aur hundraan caste bi exist karti hai attri gotra mein? Kshatriya caste mein ??

harish pratap singh said...

dhakre vansh ki jankari chahiye

harish pratap singh said...

lodhi rajput nhi hote

Unknown said...

Gurhar/ Gaurhar & हिंदी में गुरहार/ गौड़हर वंश नहीं लिखा है आपने ये वंश गौड़ राजपूतों से निकला है। अजमेर के तारागढ़ और राजगढ़ से एवम् वर्तमान में इस वंश के लोग यूपी के कासगंज व बदायूं क्षेत्र के गावों में निवास करते हैं।।

Unknown said...

ये वंश सिसोदिया की शाखा है

Amar Meshwal said...

Akbar aur maharana pratap k beech haldi ghati m yudh Hua tha us samay rajput baccho budde aurto ko apna mulnivas chod k jane ka adesh Mila the na h birdari valo n h investigation kri n sarkar n unke bare m reveal kra . Now we use to live in karnal district of 5-6 villages why don't we join our previous Birdari (gotra) . Please give your suggestion

Amar Meshwal said...

Akbar aur maharana pratap k beech haldi ghati m yudh Hua tha us samay rajput baccho budde aurto ko apna mulnivas chod k jane ka adesh Mila the na h birdari valo n h investigation kri n sarkar n unke bare m reveal kra . Now we use to live in karnal district of 5-6 villages why don't we join our previous Birdari (gotra) . Please give your suggestion

Jindagi Ek paheli said...

Maunash thakur list me nahi hai
Unko add karo
Ye bhadohi district me hai
Ye maharana pratap ke vansh ke hai

prati said...

आप ये बात बताएं, पुंडीर/कंडीर कौन से राजपूत है

Alok Chauhan said...

History of chauhan community in Rajputs

Alok Chauhan said...

Details of chauhan Rajput(Gotra Chandel)

Alok Chauhan said...

Details of Chauhan Rajput (Gotra Chandel)

Alok Chauhan said...

Chauhan vans ki puri jankari (Gotra Chandel)

Unknown said...

Shakhawat

Akash Suryavanshi said...

एक सूर्यवंशी सुर्य वंश गौत्र भारद्वाज शाखाओं परीवार जो की 7 पीढीयों से मुजेहरा ग्रामसभा जिला मिर्जापुर उत्तर प्रदेश निवास रहे हैं उनकी भी सुची में विवरण दिया जाए ।

Rajputana Thikana By Suryavanshi Sarmal Rajputs (Thakur ,Bannas) said...

Sarmal &हिंदी में सड़माल /सरमाल राजपूत missing हैं।। यह जम्मू कश्मीर के सूर्यवंशी राजपूत हैं।। जिन्हें पहाड़ी राजपूत या डोगरा राजपूत भी कहते हैं।।

वंश - सूर्यवंश
गोत्र - भारद्वाज

himmatsingh rajput said...

BAGHEL rajput
gotra - bhardwaj
vansh - agnivansh
sthan - rewa (baghel khand)

Unknown said...

Gaur ka gotta parasar bhi hota ha

Samay Singh said...

इसमे कठे हर रोहिलोखण्ड में जो चौहान राठौर वाछल वत्स आदि राजपूत शासन करते थे वे निकुम्भ वन्स से थे रोहिला बनाफर रङ्ढेल आदि रोहिला क्षत्रियो राजपूतो का कोई जिक्र नही है रोहिला भी एड करिये 1740 से पहले रोहिलखण्ड में रोहिला राजपूतो के शासन थी

Samay Singh said...

रामपुर रोहिला राजपूतो के राजा राम शाह की राजधानी थी बरेली जगत सिंह कतेहरिया के पुत्रों ने स्थापित की थी कठ कठे हरिया राजपूत ही रोहिले राजपूत है

Anonymous said...

नाग वंश में अहिबन राजपूत को भी जोड़े। इनका गोत्र गर्ग है। ये बहुत थोडी संख्या में उत्तर प्रदेश के सीतापुर, लखीमपुर, लखनऊ मेंपाए जाते हैं

Abhishek vohra said...

vohra kstriya rajpoot desent dadwal rajpoot and origan rajpoot clan village bhaun in chakwal in pak ,gotra kashap,our tittle is rai ,

flowersagar said...

बागरी और मौहार राजपूत चौहान की शाखा है जो जो महोबा युद्ध के दौरान आये थे। क्या आप बता पाएंगे बागरी और मौहर शब्द कैसे प्रचलित हुये।
-अरुण सिंह बागरी

Unknown said...

Bhaiyo Kakan ka Gotra Bhargawa hota hai

jit said...

Badwaliya gotra sravan

Thakur Akash said...

कठेरिया ठाकुर सूर्यवंशी की श्रेणी में आते हैं जिनका गोत्र वशिष्ठ होता है।
निकासी- अयोध्यापुरी, लोकनगरी, उच्च मुल्तान, सवालाख गढ़जलंधर, जयपुर, जोधपुर, चित्तोड़, तुकलकबाद,काठियावाड़, लीलौर, अलीगढ़, अनूपशहर में हैं।
वेदों की शाखा- यजुर्वेद, उपवेद, धनुर्वेद, शाखा मारधुन्दनी, सूत्र परासर- गृहा सूत्र।
पक्षी- गरुण
नदी- सरयू
इष्ट- रामचंद्र जी
कुल की देवी- काली माँ/ योगेश्वरी देवी

विवरण अपलोड करें।

*** और सभी राजपूत भाई जानते ही होंगे कि उनका सम्पूर्ण विवरण उनके जगा के पास होता है।***

ठाकुर आकाश वशिष्ठ......
कंप्यूटर हार्डवेयर एंड सॉफ्टवेयर टेक्नीशियन
अनूपशहर
8868087869
[email protected]

Ajay Thakur said...

Where is kharwal Rajput, Gotra-Bhardwaj

Ajay Thakur said...

Where is kharwal Rajput, Gotra-Bhardwaj.please add the kharwal Rajput

jitendar Rajput said...

कट गोत्र की जानकारी दे

jitendar Rajput said...

कट गोत्र के वंश का विवरण दीजिये

Nilesh Kshatriya said...

Somvanshi Sahasraarjun kshatriya Tak / taak / tunk ye 3 ka gotra aur kuldevta - kuldev bataye

Anonymous said...

Dabi Rajputs rose to popularity in the 9th and 10th centuries. Dabi Rajputs are passionately attached to their land, family and honor. Dabi Rajputs treated war like a sport, and followed a strong chivalric code of conduct. Dabi Rajputs worships the Scythians, Chamunda Maa and Durga Maa as there god.

Unknown said...

Karmuaar(karmar) rajput's name is not add.judge tax impose by Akbar did not give the karmuaar rajput,hence it was named after it.

Unknown said...

Karmuaar(karmar) rajput's name is not add.judge tax impose by Akbar did not give the karmuaar rajput,hence it was named after it.

Ashish kumar said...

Karmuaar(karmar) Rajput,Gotra vashisht.Jagiya tax imposed by Akbar did not give karmuaar Rajput,hence the name was karmuaar Rajput.Settler kantipur,Rajasthan.Please add this Rajput caste.

ABHISHEK KUMAR SINGH said...

Sir isme gadhwal Rajput KE bare me kahi mentation nahi H..JISKA gotra V GAUTAM H...