क्या आप जाने हैं? घोड़े पर बांयी ओर से क्यों चढ़ा जाता है?



क्या आप जाने हैं? घोड़े पर बांयी ओर से क्यों चढ़ा जाता है?
क्या आप जाने हैं? घोड़े पर बांयी ओर से क्यों चढ़ा जाता है?

घोड़े पर उसकी बांयी तरफ से चढ़ने और उतरने की प्रथा शायद बहुत पुराने समय से ही चली आ रही है। उस समय से जब योद्धा के रूप में पुरूषों की कमर से इनके बाएँ पैर की तरफ धातु की भारी तलवार लटकती थी।

ऐसी स्थिति में जब एक ओर शरीर पर इतनी वजनी चीज लटकी हो तो स्वाभाविक था कि इसके दूसरी ओर के पैर का उपयोग हमेशा बेहतर रहता था। अन्यथा बाएँ पैर को उठाकर घोड़े की पीठ पर चढ़ते समय तलवार का बीच में अटकाव बहुत स्वाभाविक था जिससे असुविधा ही नहीं, दुर्घटना भी घट सकती थी।

आज प्रशिक्षण के दौरान घुड़सवारी सिखाते समय जो पहला पाठ पढ़ाया जाता है, वह है घोड़े पर हमेशा बांयी ओर से चढ़ना।यही कारण है कि अधिकतर घोड़े भी इस रिवाज के आदी हो जाते हैं और जब कभी कोई सवार इस प्रथा को तोड़कर दांयी ओर से चढ़ने का प्रयास करता है तो घोड़ा बौखला जाता है।


Share:

No comments: