मुलायम हमारी चड्डी है



चड्डी की महिमा किसी से छिपी नही है। वो भी अगर चड्डी मुलायम हो तो बात कि क्‍या ? मुलायम देश की आन बान शान, रोशनी, अधेरा, रोजी, मोना हो सकते है तो चड्डी क्‍यो नही हो सकते ? चड्डी की महिमा किसी से छिपी नही है चाहे मंत्री हो या प्रधानमंत्री, मुख्‍यमंत्री हो या फिर सी एम का पीए या‍ गरीब से गरीब और अमीर से अमीर चड्डी हमारे सभी के जीवन का अभिन्‍न अंग है चड्डी रोजी, रोशनी और मोना की तरह।

आजकल के दौर मे टीवी मे एक चड्डी मे एक युवक पूंरे देश में दिखता है, कोई और कारण नही है सिर्फ अपनी चड्डी की वजह से एक लड़की उस पर फिदा भी हो जाती है। शायद विज्ञापन मे चड्डी की ताकत का एहसास दिलाने की कोशिस किया जाता है कि देख बेटा चड्डी मे कितना दम है? चड्डी तो एक फैशन हो गया है तरह तरह की कलात्‍मक चड्डियॉं बाजार मे आ रही है, कुछ तो ऐसी है कि पहनो न पहनों बराबर है, उनकी ही मॉंग बाजार मे ज्‍यादा है लोगों कि सोच होगी मै इसमे कैसा लगूँगा? मुझे भी इस तरह के अंडरवियर मे देख कर मेरी प्रेमिका टीवी वाले की तरह किस करेगी।

उत्‍तर प्रदेश के चुनाव में चड्डी और भी महत्‍वपूर्ण हो जायेगी क्‍योकि मुलायम हमारी चड्डी जो ठहरा, भाई आप ही विचार कीजिऐ कोई अपनी सबसे मुलायम चड्डी का विरोध कैसे कर सकता है। चुनावों मे च ड्डी की भूमिका काफी बढ़ गई है हाल मे आयोजित एक चड्डी समारोह मे प्रदेश के मुखिया ने अगली बार सत्‍ता मे आने पर प्रत्‍येक नागरिकों को मुफ्त चड्डी देने की घोषणा की है, धोषणा के ट्रायल के रूप मे इस चुनाव मे पार्टी कार्यकर्ता को चुनाव प्रचार के दौर केवल अण्‍डवियर मे ही रहने के निर्देश जारी किये गये है। इस चुनाव के लिये कुछ नमूने के रूप मे कुछ अण्‍डरवियर रखें गयें है। जो पार्टी के कार्यकर्ताओं की इइसव च्‍छा के अनुसार दिये जायेगे। यहॉं धोषणा पत्र मे कुछ चुनिन्‍दा चड्डी ही रखी गई है। कुछ खास माडल के अण्‍डर वियर केवल कार्यलय मे ही उपलब्‍ध है क्‍योकि इनके चित्र धोषण पत्र मे छापने से चुनाव आचार संहिता का उलंघन माना जाता । चुनाव कार्यालय अर्थात मुलायम अण्‍डरवियर केन्‍द्र है जहॉं पर कार्यकर्ता अपने मन की अन्‍य डिजायन की उपलब्घ है।
 
 
खास तौर पर युवा प्रत्‍याशियों के लिये
 
ये है वाम पंथी भाईयों की चड्डी





 
यह है खास तौर पर डाक्‍टर प्रत्‍यासियों के लिये
 
यह है बाहुबली प्रत्याशियों की चड्डी
 
कैजुअल चड्डी सेक्‍यूलर पार्टी के प्रत्‍याशियों के लिये

 
यह खास तौर पर उन प्रत्‍याशियों की चड्डी है जो आधुनिक है सफेद पोश नही रहना चहते है और जो कम कपडों के शौकिन है।


Share:

6 comments:

Udan Tashtari said...

यह क्या ढ़ूंढ लाये भाई!! चुनाव में आपकी बड़ी सक्रिय भूमिका नजर आ रही है. लगे रहो मुलायम वाली के साथ मुलायम वाले के लिये...शुभकामना प्रमेन्द्र भाई! :)

notepad said...

गजब कर दिए भाई!
हम सोचे बस लिख कर संतोस कर लिए होगे। तुम तुम तो चड्डी विसेसग्य हुई गए और डेमो दे डाला।
खूब!

संजय बेंगाणी said...

आपने गजब का कलेक्शन किया है. :)

मस्त.

Sagar Chand Nahar said...

चैट के दौरान आप हमें कह रहे थे एक दिन; फैशन डिजाईनिंग सीख रहे हो, तो फैशन डिजाईनिंग में अन्डरवियर डिजाईनिंग सीख रहे हो।
डिजाइनिंग अच्छी ही की है तरक्की करोगे।

ratna said...

बहुत बढ़िया।

Tarun said...

भईया हम तो टाईटिल पढके हंसते ही रहे और फिर आ गये देखने कि चड्डी अभी सलामत है या फट तो नही गयी लेकिन मियां यहाँ तो कमाल का कलेक्शन करके रखा है आपने।