टेनिस (Tennis) की शब्‍दावली



टेनिस का शुमार फ़ुटबाल के बाद दुनिया के सबसे लोकप्रिय खेलों में होता है और इसमें नाम के साथ साथ पैसा भी काफ़ी है। सानिया मिर्ज़ा पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं जो ‘सीडेड’ खिलाड़ियों की सूची में आई हैं। इस से पहले पुरुषों के मुक़ाबले में भारत के रमेश कृष्णन को 23वीं रैंकिंग प्राप्त हो चुकी हैं। तो आइए देखते हैं टेनिस के मैदान से हमारी झोली में कितने बॉल, अरे नहीं शब्द गिरते हैं।

सिंगल्स (Singles) का अर्थ है वह खेल जिस में सिर्फ़ दो खिलाड़ी हों और एक दूसरे के आमने-सामने हों।

डबल्स (Doubles) जिसमें चार खिलाड़ी हों और दो दो की जोड़ी में एक दूसरे के मुक़ाबले में खड़े हों।
मिक्स्ड डबल्स (Mixed Doubles) इसमें भी चार खिलाड़ी होते हैं और दो दो की जोड़ी में होते हैं लेकिन प्रत्येक जोड़ी में से एक महिला और एक पुरूष होते हैं।

रैंकिंग (Ranking) वरीयता क्रम कहलाता है, इसे अमीन सायानी के शब्दों में पायेदान भी कह सकते हैं यानि किसी खिलाड़ी की रैंकिंग एक है तो इसका अर्थ है वह चोटी का नंबर एक खिलाड़ी है। टेनिस के टूर्नामेंट में मुक़ाबला आम तौर पर वरीयता के हिसाब से रखा जाता है, यानी प्रारंभ में ही उच्च कोटि के खिलाड़ियों को आपस में नहीं टकराया जाता, इस से खेल के मज़े में कमी आने का ख़तरा रहता है।

सीडेड (Seeded) उन वरीयता प्राप्त खिलाड़ियों को कहते हैं जिन्हें टूर्नामेंट के शुरू में आपस में नहीं खिलाया जाता है. इसकी संख्या टूर्नामेंट के हिसाब से बदलती रहती है।

ग्रांड स्लैम (Grand slam) टेनिस के चार बड़े टूर्नामेंट ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट कहलाते हैं। ये हैं- ऑस्ट्रेलियन ओपन, फ्रेंच ओपन, विंबलडन और यूएस ओपन हैं।

सर्विस (Service) का अर्थ है टेनिस का खेल शुरू करने के लिए गेंद का फेंकना, जिसकी सर्विस होती है उसके गेम जीतने की अधिक उम्मीद होती है।

सर्विस ब्रेक (Service Break) इसका अर्थ यह हुआ कि जो सर्विस कर रहा था वह नहीं जीत पाया और उसका विरोधी जीत गया. जीतने के लिए प्रतिद्वंदी की सर्विस को ब्रेक करना ज़रूरी है।

सर्व (Serve) एक खिलाड़ी का खेल शुरू करने के लिए बाल रैकेट से मार कर दूसरे के पाले में भेजना।

सर्वर (Server) वह खिलाड़ी जो खेल शुरू करने के लिए रैकेट से मारकर दूसरे के पाले में गेंद भेजता है।

रिसीवर (Receiver) वह खिलाड़ी जिसके पाले में बाल आए और वह उसे वापस पहले के पाले में भेजे।

बॉल बॉय या गर्ल (Ball boy/girl ) वह लड़का या लड़की जो जाल के किनारे या किसी कोने में रहता है और दौड़ दौड़ कर गेंद इकठ्ठा करके खिलाड़ी को देता है।


कोर्ट (Court) यानी टेनिस का मैदान जिसके अंदर गेंद रखी जाती है।

एंड्स (Ends) छोर या दोनों ओर का पाला जहाँ से खेल शुरू किया जाता है।

बेस लाइन (Baseline) वह लकीर जो टेनिस के मैदान के दोनों सिरों को बताता हो जिसके बाहर गेंद जाने से प्वाइंट बन जाता है।

नेट (Net) जाल जो टेनिस कोर्ट के बीच में कोर्ट को बराबर विभाजित करता है।

साइड लाइन्स (Sideline) टेनिस कोर्ट के दाएं और बाएं दोनों ओर खिंची हुई लकीर।

बाउन्स (Bounce) जब गेंद टप्पा खा कर उछलती है उसे बाउन्स कहते हैं।

बॉल चेन्ज (Ball change) गेंद में जब उछाल कम हो जाती है तो गेंद बदली जाती है जैसा क्रिकेट में गेद पुरानी हो जाती है या उसकी शक्ल बदल जाती है तो उसे बदल दिया जाता।

सर्विस बॉक्स (Service box) वह आयताकार स्थान जहां एक खिलाड़ी सर्विस करते हुए गेंद को टप्पा खिलाता है।

गेम (Game) उसे कहते हैं जब कोई खिलाड़ी पहले चार प्वाइंट जीत जाता है पहला और दूसरा प्वाइंट 15-15 का होता जब कि तीसरा 10 का और चौथे का मतलब किसी एक की सर्विस में जीत।

सेट (Set) जो खिलाड़ी आम तौर पर छह गेम पहले जीत जाता है वह सेट जीत जाता है यानी गेम के समूह को सेट कहते हैं।

मैच (Match) आम तौर पर पुरुषों के मुक़ाबले में जो खेलाड़ी तीन सेट पहले जीत जाता है वह मैच जीत जाता है और महिला वर्ग में जो खिलाड़ी पहले दो सेट जीत जाती है वह मैच जीत जाती है।

ड्यूस (Deuce) जब गेम के अंदर दोनों प्रतिद्वंद्वी 40-40 अंक पर पहुंच जाते हैं तो उस बराबरी को ड्यूस कहते हैं।

ऐडवांटेज (Advantage) जब बराबरी यानी ड्यूस हो जाता है और जो खिलाड़ी पहली सर्विस पर जीत हासिल करता है वह गेम जीतने के लाभ यानी ऐडवांटेज में चला जाता है, अगर वह अगली सर्विस भी जीत लेता है तो गेम पर उसका क़ब्ज़ा हो जाता है नहीं तो फिर से ड्यूस हो जाता है।

टाइब्रेकर (Tiebreak) जब दोनों प्रतिद्वंद्वी 6-6 गेम जीत लेते है तो टाइब्रेकर पर जीत का फ़ैसला होता है। इसमें जो खिलाड़ी सात प्वाइंट पहले अर्जित कर लेता वह सेट जीत जाता है। अगर दोनो खिलाड़ी फिर से 6-6 प्वाइंट हासिल करते हैं तो फिर जो खिलाड़ी लगातार दो प्वाइंट हासिल करता है वह सेट जीत जाता है।

लव (Love) गेम या सेट की शुरूआत में शून्य प्वाइंट।

मैच प्वाइंट (Match point) वह अंतिम अंक जिसके जीतने के बाद कोई खिलाड़ी मैच जीत ले इसी प्रकार गेम प्वांइट और सेट प्वाइंट भी होता है।

ऑल (All) का अर्थ है बराबर. मिसाल के तौर पर 15 ऑल या 30 ऑल का मतलब हुआ दोनों खिलाड़ियों का 15 या 30 अंक है।

फ़ॉल्ट (Fault ) ग़लती यानी सर्विस करने में गेंद जाल से टकरा जाए या सर्विस बॉक्स से बाहर टप्पा खाए तो फ़ॉल्ट कहलाता है।

फ़ुट फ़ाल्ट (Foot fault) जब खिलाड़ी सर्विस करते समय बॉल को मारने से पहले बेस लाइन या बीच की लाइन को छू जाए तो फ़ुटफॉल्ट कहते हैं।

डबल फ़ॉल्ट (Double Fault ) अगर दोबार लेट हो जाता है तो उसे डबल फ़ाल्ट कहते हैं और प्रतिद्वंद्वी को प्वाइंट मिल जाता है।

लेट (Let) जब सर्विस की जाए और गेंद जाल को छूकर सर्विस बॉक्स में गिरे उसे लेट कहा जाता है ऐसी स्थिति में फिर से सर्विस करनी पड़ती है।

एस (Ace) यानी ऐसी सर्विस जिसमें इतनी गती हो या इतना कोण बन रहा हो जिस पर प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ी अपना रैकेट लगाने में भी असमर्थ रहे।

डाउन-द-लाइन (Down-the-line) वह शॉट जिस में गेंद किनारे वाली रेखा के साथ साथ गुज़रता हुआ किनारे ही गिरे।

ड्राइव (Drive) एक तेज़ी से खेला गया सीधा शॉट जो प्रतिद्वंद्वी के सामने से गुज़र जाए।

ड्रॉप शॉट (Drop shot) हलके से खेला गया शॉट जो जाल के पार गिरे और प्रतिद्वंद्वी उस तक न पहुंच सके।

ग्राउंड स्ट्रोक (Ground stroke) टप्पा खाने के बाद गेंद जब उछले उस पर लगाया जाने वाला शॉट।

हाफ़-वॉली (Half-volley) गेंद के टप्पा खाते ही लगाया जाने वाला शॉट।

लॉब (Lob) ऐसा शॉट जिसे प्रतिद्वंद्वी के ऊपर से कोर्ट के पिछले हिस्से में उठा कर रखा जाए।

रैली (Rally) दोनों खिलाड़ियों के बीच शॉट लगाने का मुक़ाबला जब तक कि प्वाइंट अर्जित न कर लिया जाए।

स्मैश (Smash) आम तौर पर बिना टप्पा खाए सिर से ऊपर वाली गेंद को पूरी ताक़त से मारना स्मैश कहलाता है।

बैक हैंड (Backhand) जिस हाथ में रैकेट हो उसकी उलटी दिशा में आने वाली गेंदे पीछे मुड़ते हुए लागए जाने वाले शॉट को बैक हैंड शॉट कहते हैं। महिलाओं में जर्मनी की स्टेफ़ी ग्राफ़ को इस शॉट का माहिर कहा जाता था।

फ़ोर-हैंड (Forehand) जिस हाथ में रैकेट हो उसी तरफ़ से लगाए जाने वाले शाट को फ़ोरहैंड शॉट कहते हैं। सानिया मिर्ज़ा, मारिया शारापोवा वग़ैरह अच्छा फ़ोर-हैंड शॉट लगाती है।

टेनिस की और भी ढेर सारी शब्दावली है लेकिन उनका प्रयोग कम ही होता ह। सानिया मिर्ज़ा ने मार्टिना हिंगिस को हराकर एक अप-सेट किया है उम्मीद की जाती है कि उनकी रैंकिंग और भी बेहतर होगी लेकिन पहले बीस में आने के लिए बड़े टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करना होगा।




Share:

3 comments:

Udan Tashtari said...

ज्ञानवर्धन के लिये आभार. रोचक जानकारी दी है.

रजनीश मंगला said...

बहुत बढ़िया।

Shrish said...

आभार इस जानकारी के लिए, हमारी काफी शंकाएँ दूर हूई।