दो पारी में 8 शतक!



एक दो शतक तो आम बात हो गई है किन्‍तु जब दोनों पारी में कुछ मिला कर 8 शतक पड़े तो जरूर आश्‍चर्य की बात हो जाती है। एसा ही कुछ मेरे जीमेल एकाउन्‍ट के साथ हो रहा है। मेरे जीमेंल में pramendraps एकाऊंट के पर प्रतिदिन 50 से 70 तक स्‍पैम मैसेज आते है। जिनसे मेरा दूर दूर से परिचय नही रहता है। कल मैने अपने एकाउन्‍ट देखा तो पता चला कि इन बाँक्‍स में 100 तथा स्‍पैम बाक्‍स में 700 से ज्‍यादा मैसेज थे। चूकिं मै स्‍पैम को भी एक बार जरूर चेक करना पंसद करता हूँ क्‍योकि मुझे कई बार लगा है कि याहू से भेजा जाने वाला ईमेल अपने आप स्‍पैम बाक्‍स में चला जाता है। कभी कभी लगता है कि इस ईमेल को त्‍याग दूँ, किन्‍तु यह मैने कई जगह प्रयोग किया है तो मन भी नही कर पाता है। खैर जो होना था हो रहा है अब तो 8 शतकों की खुशियाँ मानने के अलावां कुछ किया भी क्‍या जा सकता है। :) किन्‍तु इन बाक्‍स के स्‍पैम चिन्‍ता का कारण जरूर है।


क्‍या आपके पास कोई समाधान है ?


Share:

3 comments:

ज्ञानदत्त पाण्डेय । GD Pandey said...

इतना स्पैम बहुत लगता है। आप यह बतायेंगे कि स्पैम फिल्टर ठीक है कि नहीं? कितना स्पैम इनबॉक्स में और कितना मेल स्पैम में जाता है?
मुझे तो यदा कदा को छोड़ कर गूगल की सेवा ठीक लगती है।

Sanjay said...

पांडेय जी का कहना सही है. अपने स्‍पैम फिल्‍टर की सैटिंग्‍स को और दुरुस्‍त कीजिए. खास पतों से आने वाली मेल को ब्‍लॉक किया जा सकता है. अपने मेल एड्रेस को हर जगह इस्‍तेमाल करने से बचें.

Vijaykumar Dave said...

yadi aap spam box me jate hai to koi dikaat nahi... parantu spam me raha koi message, jo ki vastav me spam ho, aap ko upyogi naa ho to aise message ko kholanaa theek nahi hai.

jo aap ke kaam ke message ho uske saamane tick lagaa kar use inbox me sthaanaantarit kar deejiye aur baakee ke sabhee msg delete kar dijiye....