आजा हँसले - हँसले, मेरे यार तू हँस ले



माँ - अरे बेट चंदू, कहाँ जा रहे हो ?
चंदू - साधू महाराज का प्रवचन सुनने।
माँ - ना बादल, न बरसात फिर ये छाता क्‍यो ?
चंदू - महाराज वहाँ ज्ञान की वर्षा जो कर रहे है।
:-) :-) :-) :-) :-) :-) :-) :-)

सोनिया ने मनमोहन से कहा -  मन्‍नू मुझे किसी एक्‍पेन्सिव प्‍लेस पर ले चलो।
मनमोहन बोले - मैछम जी तैयार हो जाइये।
सोनिया ने पूछा - हम कहाँ जा रहे है ?
मनमोहन ने कहा - पेट्रोल पम्‍प।
:-) :-) :-) :-) :-) :-) :-) :-)

एक आदमी को एक लड़की ने सपने में जोर की चप्‍पल मारी।
वह सबसे पहले बैंक गया और अपने बैंक के खाते को बंद कर दिया।
बैंक कर्मी ने पूछा - सर आप ऐसा क्‍यो कर रहे है ?
आदमी ने कहा - आजपेपर में इस्‍तहार था कि '' हम आपके सपने को सच करेगे।


Share:

7 comments:

महामंत्री (तस्लीम ) said...

बहुत खूब। इस हास्य रस की वर्षा ने अंदर तक भिगो दिया।

बाल किशन said...

हा हा हा.
:) :) :)
अन्तिम वाला समझ नहीं पाया.

mamta said...

:)

Lovely kumari said...

:-) wah bahut khub..jari rakhe

Udan Tashtari said...

हा हा!!

Anonymous said...

Achhe Chutkule. Ha, ha, ha,.

K M Mishra said...

Achhe Chutkule. Ha, ha, ha