अल्‍लाह ने दिये अबाध बिजली अपूर्ति की गांरटी



आज बकरीद के मौके पर बिजली कटौती नही होगी। खबर है कि कल प्रदेश सरकार की मुखिया ने अल्‍लाह से एक दिन के अल्‍लाह मियॉं से उनके पास रखे जेनरेटर की मॉंग की थी जिसे अल्‍लाह मियॉं ने धर्मनिरर्पेक्ष सरकार के सर्मथन में बिजली के असीमित अतिरक्ति उत्‍पाद की मॉंग को स्‍वीकार कर लिया। जिसे आज सम्‍पूर्ण उत्‍तर प्रदेश के 24 घन्‍टे आबाध बिजली की आपूर्ति की जायेगी।
 
यहॉं तो 10 बजे बिजली कटनी चाहिये थी अभी तक 10.30 तक कटी नही, क्‍या आपकी सरकारो ने भी ऐसी कोई मॉंग अल्‍लाह मियां से की हो जो टिप्‍पणी के माध्‍यम से जरूर सूचित कीजिएगा। काश हमारे भगवान के पास भी कोई अतिरक्ति जेनरेटर होता, तो हमारे भी त्‍यौहार उजाले में मनाये जाते।


Share:

14 comments:

Anonymous said...

भगवान करे कि यह ईद छात्रों के परीक्षा के दिनों में रोज मनायी जाय ताकि छात्र अपनी पढ़ाई अच्छी तरह कर सकें

पंगेबाज said...

पता नही जी हरियाणा मे आज तो बिजली आ रही है तीन दिन बाद . यहा से बिजली को अब दिल्ली और राजेस्थान भेजा जायेगा . इसलिये उम्मीद है कि अब हफ़्ते मे तीन दिन के बजाय ,महीने मे तीन दिन आयेगी . अल्लाह काग्रेस की खैर करे.

रंजन said...

हमारे भगवन के पास तो जनरेटर है.. दिपावली पर कोई कटौती नहीं होती.. और पूरा शहर रोशन होता है..

Suresh Chiplunkar said...

जी हमारे यहाँ भी आज कटौती नहीं हुई, जाहिर है कि कांग्रेस और बसपा की धर्मनिरपेक्षता का उजाला थोड़ा भी कम न पड़ने पाये इसलिये यह "करतब" दिखाया गया है… जय हो…

Anonymous said...

Bada hi Behuda vyang hai..dono ek hi to hain allah kaho ya iswar..ittefaq raha hoga kabhi jo bijali nahi haayi hogi..mere khayal se insa allah kisi bhi dharm ko lekar vyang likhna hi nahi chahiye...aisi meri rai hai...
allah hafiz, jai hind, namskar
aapke hi ek parichit,

mahashakti said...

Anonymous II भाई ईश्‍वर अल्‍लाह एक हो सकते है। ये आप मानते हो मुस्लिम नही, मुस्लिम लोग के अनुसार अन्‍य धर्मो को मानने वाले काफिर होते है।

यह अल्‍लाह और भगवान पर व्‍यंग न हो कर सरकारी तंत्र पर व्‍यंग है। आप लेख को पढ़ कर अत्‍यंत ही भवुक हो गये और आप लज्‍जा के मारे मेरे परिचित होने के बाद भी अपने आपको प्रस्‍तुत नही कर पाये उसका मुझे कष्‍ट है।

अभिषेक ओझा said...

"अल्लाह और भगवान एक है" और इस सरकारी तंत्र के लिए "अल्लाह और भगवान में से एक ही है"

Alag sa said...

ऐसा है कि हमारे देवताओं में खिंचातानी चलती रहती है। सूर्य इंद्र से खफा हैं तो इंद्र पवन से। पवन नगराज से खिंचे-खिंचे रहते हैं। इसीलिये हमारी अर्जियां इधर-उधर दबी पड़ी रह जाती हैं।

Udan Tashtari said...

अल्लाह के नाम ही सही- बस बिजली मिलती रहे.

निरन्तर - महेंद्र मिश्रा said...

अल्लाह के बन्दों को बस..जरुरत के हिसाब से बिजली मिलती रहे. यही दुआ है .....

Anonymous said...

बिजली हमारी जरुरत है.पर अलाह और भगवान नहीं. बस बिजली मिलती रहे ताकि हमारी नई पीढी पढ़ लिख सके..वरना आप और मैं क्रांति कर देंगे.......कांग्रेस और हिंदूवादी जाये भाड मैं...

AAP KA APNA SAATHI
CP CHARAN,MUMBAI

राज भाटिय़ा said...

अरे आप सब लोग क्यो गुस्सा हो रहे है भाई, वो ऊपर वाला तो एक ही है, यह मुझे पता है, आप को पता है, सब को पता है, लेकिन हमारे कमीने नेताओ को नही पता, इस लिये हम क्यो लडे,यह मजाक भगवान या अल्लाह पर नही हमारी सरकार पर है, जो ऎसे बेहुदा ऎलान कर के हमे आपस मै लडवाती है, चलिये सब ईद मनाये.
आप सब का धन्यवाद

समयचक्र - महेद्र मिश्रा said...

यहाँ तो अल्लाह के नाम पर भी कटौती जारी है . बहुत बढिया

पद्म सिंह said...

ईश्वर अल्ला तेरे नाम
सब को बिजली दे भगवान
....इंशा अल्लाह अगर भगवान ने चाहा तो ज़रूर मिलेगी