20 वीं सदी की अति महत्वपूर्ण कालजयी रचनाएँ




सन् 1903 ई०
  • भयानक खून (उपन्यास) - हरेकृष्ण जौहर
सन् 1904 ई०
  • आदर्श दम्पति (उपन्यास)- लज्जाराम मेहता
सन् 1905 ई०
  • तिलस्मी शीशमहल (उपन्यास)- किशोरी लाल गोस्वामी
सन् 1906 ई०
  • इन्दुमती (उपन्यास)- किशोरी लाल गोस्वामी
सन् 1907 ई०
  • अधखिला फूल — अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
सन् 1908 ई०
  • पुतली महल (उपन्यास)- रामलाल वर्मा
सन् 1909 ई०
  • चित्राधार, प्रेमराज्य, उर्वशी (काव्य) - जयशंकर प्रसाद
  • वेणुसंहार (नाटक)- बालकृष्ण भट्ट
सन् 1910 ई०
  • शोकोच्छवास, अयोध्या का उद्धार (काव्य) - जयशंकर प्रसाद
  • इन्द्रजालिक जादु (उपन्यास)- गोपालराम गहमरी
  • सज्जन (नाटक) - जयशंकर प्रसाद
सन् 1911 ई०
  • वभ्रुवाहन (काव्य) - जयशंकर प्रसाद
  • भोजपुरी की ठगी (उपन्यास)- गोपालराम गहमरी
सन् 1912 ई०
  • भारत भारती(काव्य) - मैथिलीशरण गुप्त
  • जार्ज वंदना (काव्य) -श्रीधर पाठक
  • कल्याणी (नाटक)- जयशंकर प्रसाद
सन् 1913 ई०
  • कानन कुसुम, प्रेमपथिक (काव्य) - जयशंकर प्रसाद
  • करुणालय, प्रायश्चित (नाटक)- जयशंकर प्रसाद
सन् 1914 ई०

  • प्रिय प्रवास(काव्य) - अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
  • जासूस की ऐयारी(उपन्यास)- गोपाल राम गहमरी
सन् 1915 ई०
  • देहरादून(काव्य) - श्रीधर पाठक
  • राज्यश्री(नाटक)- जयशंकर प्रसाद
सन् 1916 ई०
  • जूही की कली (काव्य) - सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला' की प्रथम कविता
  • चंपा (उपन्यास) - कृष्ण लाल वर्मा
सन् 1917 ई०
  • मिलन (काव्य) - रामनरेश त्रिपाठी
  • रामलाल (उपन्यास) - मनन द्विवेदी
सन् 1918 ई०
  • झरना (काव्य) - जयशंकर प्रसाद
  • अंगूठी का नगीना (उपन्यास) - किशोरी लाल गोस्वामी
  • सेवासदन ( उपन्यास) - प्रेमचंद
  • कृष्णार्जुन युद्ध(नाटक)- माखनलाल चतुर्वेदी
सन् 1919 ई०
  • विश्वप्रेम (नाटक)- सेठ गोविन्द दास
सन् 1920 ई०

  • उच्छवास, ग्रंथि (काव्य) - सुमित्रानंदन पंत
  • पथिक ( काव्य) - रामनेश त्रिपाठी
  • कल्याणी (उपन्यास) - मन्नन द्विवेदी
सन् 1921 ई०
  • प्रेमाश्रम (उपन्यास) - प्रेमचंद
  • विशाख (नाटक) - जयशंकर प्रसाद
सन् 1922 ई०
  • सूर्यास्त (उपन्यास) - गोविन्द वल्लभ पंत
सन् 1923 ई०
  • अनामिका (काव्य) - सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • शकुंतला ( काव्य) - मैथिलीशरण गुप्त
  • अंजना (नाटक) - सुदर्शन
  • कंजूस की खोपड़ी ( नाटक) - गोविन्द वल्लभ पंत
सन् 1924 ई०
  • पूर्वादल (काव्य) - सियारामशरण गुप्त
  • चंद हसीनों के खतूत (उपन्यास) - पांडे बेचन शर्मा उग्र
सन् 1925 ई०
  • आँसू (काव्य) - जयशंकर प्रसाद
  • पंचवटी ( काव्य) - मैथिलीशरण गुप्त
  • रंगभूमि (उपन्यास) - प्रेमचंद
  • देहाती दुनिया ( उपन्यास) - शिवपूजन सहाय
सन् 1926 ई०
  • कायाकल्प (उपन्यास) - प्रेमचंद
  • जनमजेय का नागयज्ञ (नाटक) - जयशंकर प्रसाद
सन् 1927 ई०
  • मानसी (काव्य) - रामनरेश त्रिपाठी
  • गंगावतरण ( काव्य) - जगन्नाथ दास रत्नाकर
  • वीणा ( काव्य) - सुमित्रानंदन पंत
  • आद्रा ( काव्य) - सियाराम शरण गुप्त
  • हिन्दू ( काव्य) - मैथिलीशरण गुप्त
  • निर्मला (उपन्यास) - प्रेमचंद
  • चोकलेट, दिल्ली का दलाल ( उपन्यास) - उग्र
  • कामना (नाटक) - जयशंकर प्रसाद
सन् 1928 ई०
  • पल्लव (काव्य) - सुमित्रानदंन पंत
  • बुधुआ की बेटी (उपन्यास) - पांडेय बेचन शर्मा उग्र
  • अनाथ पत्नी ( उपन्यास) - भगवती प्रसाद वाजपेयी
  • स्कंदगुप्त (नाटक) - जयशंकर प्रसाद
  • कर्बला (नाटक) - प्रेमचंद
सन् 1929 ई०
  • विकट भट्ट (काव्य)- मैथिली शरण गुप्त
  • स्वप्न (काव्य) - रामनरेश त्रिपाठी
  • उद्धव शतक ( काव्य) - जगन्नाथ दास रत्नाकर
  • कंकाल (उपन्यास)- जयशंकर प्रसाद
  • परख ( उपन्यास) - जैनेंद्र कुमार
  • माँ, भिखारिणी (उपन्यास) - विश्वम्भरनाथ शर्मा कौशिक
सन् 1930 ई०
  • परिमल (काव्य)- सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • निहार ( काव्य) - महादेवी वर्मा
  • गढ़ कुंढार (उपन्यास)- वृन्दावन लाल शर्मा
  • एक घूंट (नाटक)- जयशंकर प्रसाद
  • स्वर्ण विहान ( नाटक) - हरिकृष्ण प्रेमी
सन् 1931 ई०
  • साकेत (काव्य)- मैथिलीशरण गुप्त
  • आत्मोत्सर्ग (काव्य) - सियारामशरण गुप्त
  • गबन (उपन्यास)- प्रेमचंद
  • अप्सरा ( उपन्यास) - सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • हृदय की प्यास ( उपन्यास) आ० चतुरसेन शास्त्री
  • चन्द्रगुप्त (नाटक)- जयशंकर प्रसाद
  • चन्द्रगुप्त मौर्य (नाटक) - उदयशंकर भट्ट
सन् 1932 ई०
  • रश्मि (काव्य)- महादेवी वर्मा
  • गुंजन ( काव्य) - सुमित्रानंदन पंत
  • यशोधरा (काव्य) - मैथिलीशरण गुप्त
  • कर्मभूमि (उपन्यास)- प्रेमचंद
  • राक्षस का मंदिर (नाटक)- लक्ष्मीनारायण मिश्र
सन् 1933 ई०
  • लहर (काव्य)- जयशंकर प्रसाद
  • यशोधरा ( काव्य)- अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
  • भग्नदूत ( काव्य) - सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • अलका (उपन्यास)- सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • ध्रुवस्वामिनी (नाटक)- जयशंकर प्रसाद
सन् 1934 ई०
  • सुनीता (उपन्यास)- जैनेंद्र कुमार
  • चित्रलेखा (उपन्यास) - भगवतीचरण वर्मा
  • रक्षाबंधन (नाटक)- हरिकृष्ण प्रेमी
  • सिंदूर की होली (नाटक) - लक्ष्मीनारायण मिश्र
सन् 1935 ई०
  • कामायनी (काव्य)- जयशंकर प्रसाद
  • मधुशाला (काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • रेणुका (काव्य) - रामधारी सिंह "दिनकर"
  • नीरजा (काव्य) - महादेवी वर्मा
  • सरोज-स्मृति (शोकगीत) - सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • फूल- पत्ते (कविता)- अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
  • तीन वर्ष (उपन्यास)- भगवती चरण वर्मा
  • लक्ष्मी का स्वागत (नाटक)- उपेन्द्रनाथ अश्क
सन् 1936 ई०
  • यूगांत - सुमित्रानन्दन पंत
  • द्वापर — मैथिलीशरण गुप्त
  • सांध्यगीत - महादेवी वर्मा
  • मधुबाला - हरिवंशराय बच्चन
  • कुमकुम - बालकृष्ण शर्मा नवीन
  • मृण्मयी - सियारामशरण गुप्त
  • विसर्जन - उदयशंकर भट्ट
  • गोदान - प्रेमचंद
  • पतिता की साधना - भगवतीप्रसाद वाजपेयी
सन् 1937 ई०
  • मधुकलश (काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • पारिजात, कल्पलता (काव्य) - अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
  • त्यागपत्र (उपन्यास)- जैनेंद्र कुमार
  • भाग्यचक्र (नाटक)- सुदर्शन
  • अंगूर की बेटी ( नाटक) - गोविन्द वल्लभ पंत
सन् 1938 ई०
  • निशा निमंत्रण (काव्य) - हरिवंशराय बच्चन
  • हुँकार (काव्य) - रामधारी सिंह "दिनकर"
  • ग्रामगीत (काव्य)- अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
  • तुलसीदास (काव्य) - सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • चुम्बन (नाटक)- पांडेय बेचन शर्मा उग्र
सन् 1940 ई०
  • वैदेही वनवास(काव्य) - अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध'
  • यामा (काव्य) - महादेवी वर्मा
  • रसवंती, द्वंद्वगीत (काव्य)- रामधारी सिंह "दिनकर"
  • ग्राम्या (काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • शेखर: एक जीवनी (उपन्यास)- सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • छठा बेटा (नाटक)- उपेंद्रनाथ अश्क
सन् 1941 ई०
  • विषपान (काव्य)- सोहनलाल द्विवेदी
  • दादा कामरेड (उपन्यास)- यशपाल
  • छाया (नाटक)- हरिकृष्ण प्रेमी
सन् 1942 ई०
  • कुणालगीत (काव्य)- मैथिलीशरण गुप्त
  • करील (काव्य) - रामेश्वर शुक्ल अंचल
  • दीपशिखा (काव्य) - महादेवी वर्मा
  • पर्दे की रानी (उपन्यास)- इलाचन्द्र जोशी
सन् 1943 ई०
  • अणिमा (काव्य)- सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • हिमकिरीटिनी (काव्य)- माखनलाल चतुर्वेदी
  • आकुल अंतर (काव्य) - हरिवंशराय बच्चन
  • देशद्रोही (उपन्यास)- यशपाल
सन् 1944 ई०
  • अजेय खंडहर (काव्य)- रांगेय राघव
  • लाल चूनर (काव्य) - रामेश्वर शुक्ल अंचल
  • प्रेत और छाया (उपन्यास)- इलाचन्द्र जोशी
सन् 1945 ई०
  • सतरंगिणी (काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • धरती (काव्य) - त्रिलोचन
  • दिव्या (उपन्यास)- यशपाल
सन् 1946 ई०
  • यशोधरा, कुरुक्षेत्र,सामधेनी(काव्य)- रामधारी सिंह "दिनकर"
  • इत्यलम् (काव्य) - सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • हलाहल, बंगाल का अकाल(काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • पार्टी कामरेड (उपन्यास)- यशपाल
  • निर्वासिता (उपन्यास)- इलाचन्द्र जोशी
  • टेढ़े मेढ़े रास्ते (उपन्यास)- भगवतीचरण वर्मा
  • ताम्बे के कीड़े (नाटक)- भुवनेश्वर प्रसाद मिश्र
सन् 1947 ई०
  • स्वर्णकिरण, स्वर्णधूलि(काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • नींद के बादल, युग की गंगा(काव्य)- केदारनाथ अग्रवाल
  • कचनार (उपन्यास)- वृन्दावन लाल वर्मा
सन् 1948 ई०
  • युगांतर, युगपथ (काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • कुक्कुरमुत्ता (काव्य)- सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • खादी के फूल, सूत की माला(काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • मुक्तिपथ (उपन्यास)- इलाचन्द्र जोशी
  • झांसी की रानी(नाटक)- वृंदावन लाल वर्मा
सन् 1949 ई०
  • हरि घास पर क्षणभर (काव्य)- सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • हिमतरंगिणी (काव्य)- माखनलाल चतुर्वेदी
  • गुनाहों का देवता (उपन्यास)- धर्मवीर भारती
सन् 1950 ई०
  • मिलन यामिनी (काव्य)- सच्चन
  • प्रदक्षिणा (काव्य)- मैथिलीशरण गुप्त
  • मृगनयनी (उपन्यास)- वृन्दावन लाल वर्मा
  • सन् 1951 ई०
  • रजत शिखर (काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • धूप और धूँआ (काव्य)- रामधारी सिंह "दिनकर"
  • माता, समर्पण (काव्य)- माखनलाल चतुर्वेदी
  • चीवर (उपन्यास)- रांगेय राघव
  • कोणार्क (नाटक)- जगदीश चंद्र माथुर
सन् 1952 ई०
  • रश्मिरथी (काव्य)- रामधारी सिंह "दिनकर"
  • जयभारत (काव्य)- मैथिलीशरण गुप्त
  • ठंडा लोहा(काव्य)- धर्मवीर भारती
  • क्वासी (काव्य)- बालकृष्ण शर्मा नवीन
  • वितीस्ता की लहरें(नाटक)- लक्ष्मी नारायण मिश्र
सन् 1952 ई०
  • सूरज का सातवाँ घोड़ा - धर्मवीर भारती
  • सुखदा, विवर्त - जैनेंद्र कुमार
  • जिप्सी - इलाचन्द्र जोशी
  • गंगा मैया - भैरव प्रसाद गुप्त
  • बलचलमा - नागार्जुन
  • अपराजिता - चतुरसेन शास्त्री
सन् 1953 ई०
  • .युगधारा (काव्य)- नागार्जुन
  • आराधना (काव्य)- सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • नई पौध (उपन्यास)- नागार्जुन
  • नागफनी का देश (उपन्यास) - अमृतराय
  • व्यतीत (उपन्यास) - जैनेंद्र कुमार
  • अंधेरे के जुगनू (उपन्यास)- रांगेय राघव
सन् 1954 ई०
  • बावरा अहेरी (काव्य)- सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • वर्षान्त के बादल (काव्य)- रामेश्वर शुक्ल अंचल
  • नील कुसुम (काव्य)- रामधारी सिंह "दिनकर"
  • गीतकुंज(काव्य)- सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला'
  • आलमगीर (उपन्यास)- आ० चतुरसेन शास्त्री
  • अलग अलग रास्ते(नाटक)- उपेंद्र नाथ अश्क
सन् 1955 ई०
  • अतिमा (काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • प्रणय-पत्रिका (काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • जहाज का पंछी (उपन्यास)- इलाचन्द्र जोशी
  • सोमनाथ (उपन्यास)- आ०चतुरसेन शास्त्री
  • अंजो दीदी(नाटक)- उपेंद्र नाथ अश्क
  • अंधा कुआं (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
सन् 1956 ई०
  • युगचरण (काव्य)- माखनलाल चतुर्वेदी
  • अमीता (उपन्यास)- यशपाल
सन् 1957 ई०
  • इन्द्रधनुष रौंदे हुए ये (काव्य)- सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • विष्णुप्रिया (काव्य)- मैथिलीशरण गुप्त
  • वाप्पी (काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • कब तक पुकारुँ (उपन्यास)- रांगेय राघव 
  • महाप्रभु वल्लभाचार्य(नाटक)- सेठ गोविंद दास
सन् 1958 ई०
  • झूठा - सच (उपन्यास)- यशपाल
  • दूधगाछ (उपन्यास)- देवेंद्र सत्यार्थी
  • राई और पर्वत (उपन्यास)- रांगेय राघव
  • आषाढ़ का एक दिन(नाटक)- मोहन राकेश
  • डॉक्टर (नाटक)- विष्णु प्रभाकर
सन् 1959 ई०
  • कला और बुढ़ा चान्द, चिदम्बरा (काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • सत्तरंगें पंखों वाली (काव्य)- नागार्जुन
  • अरी! ओ करुणा प्रभामयी (काव्य)- सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • कुछ कविताएँ (काव्य)- शमसेर बहादूरसिंह
  • मादा कैक्टस (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
  • शारदिया ( नाटक )- जगदीश चंद्र माथुर
सन् 1959 ई०
  • सती मैया का छोरा - भैरवप्रसाद गुप्त
  • भूले बिसरे चित्र - भगवती चरण वर्मा
  • सेमल का फूल - मार्कण्डेय
  • कबूतरखाना - शैलेष मटियानी
सन् 1960 ई०
  1. वेणु लौ गूंजे धरा (काव्य)- माखनलाल चतुर्वेदी
  2. सप्तपर्णा (काव्य) - महादेवी वर्मा
  3. अभी बिलकुल अभी (काव्य)- केदारनाथ सिंह
  4. फागुन के दिन चार (उपन्यास)- पांडेय बेचन शर्मा उग्र
  5. तीन आंखों वाली मछली(नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
सन् 1961 ई०
  • कुछ और कविताएँ (काव्य)- शमशेर बहादूर सिंह
  • आँगन के पार द्वार (काव्य)- सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • उर्वशी (काव्य)- रामधारी सिंह "दिनकर"
  • त्रिभंगिमा (काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • भंवर(नाटक)- उपेंद्र नाथ अश्क
सन् 1961 ई०
  • अपने - अपने अजनबी — सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय'
  • बड़ी चम्पा छोटी चम्पा— लक्ष्मीनारायण लाल
  • लौटे हुए मुसाफिर— कमलेश्वर
  • पचपन खम्भे लाल दीवार — उषा प्रियवन्दा
सन् 1962 ई०
  • प्यासी पथराई आँखें (काव्य)- नागार्जुन
  • चार खेमें चौंसठ खूंटे (काव्य)- हरिवंशराय बच्चन
  • संशय की एक रात (काव्य)- नरेश मेहता
  • मित्रों मरजानी (उपन्यास)- कृष्णा सोबती
  • नेफा की एक शाम(नाटक)- ज्ञान अग्निहोत्री
  • सतरानी , दर्पण (नाटक) - लक्ष्मीनारायण लाल
सन् 1963 ई०
  • परशुराम की प्रतीक्षा(काव्य)- रामधारी सिंह "दिनकर"
  • आवाजों के घेरे (काव्य)- दुष्यंत कुमार
  • चारु चन्द्रलेख (उपन्यास)- हजारीप्रसाद द्विवेदी
  • उग्रतारा (उपन्यास) — नागार्जुन
  • लहरों के राजहंस(नाटक)- मोहन राकेश
  • सीमांत के बादल (नाटक)- लक्ष्मीकांत वर्मा
सन् 1964 ई०
  • लोकायतन (काव्य)- सुमित्रानंदन पंत
  • बिजुली काजल आँच रही (काव्य)- माखनलाल चतुर्वेदी
  • चान्द का मुँह टेढ़ा है (काव्य)- मुक्तिबोध
  • जो (उपन्यास)- प्रभाकर माचवे
  • अपना अपना जूता(नाटक)- लक्ष्मीकांत वर्मा
सन् 1965 ई०
  • कोहबर की शर्त (उपन्यास)- केशव प्रसाद मिश्र
  • मुक्तिबोध (उपन्यास) — जैनेंद्र कुमार
  • अप्सरा का शाप (उपन्यास) — यशपाल
  • शिवाजी (नाटक)- रामकुमार वर्मा
1966 ई०
  • आधा गांव— राही मासूम रज़ा
  • कितने चौराहे — फणीश्वरनाथ रेणु
  • अमृत और विष — अमृतलाल नागर
  • मछली मरी हुई — राजकमल चौधरी
  • वतन की आबरू (नाटक)- ज्ञान अग्निहोत्री
सन् 1967 ई०
  • अलग - अलग वैतरणी (उपन्यास)- शिवप्रसाद सिंह
  • एक पति के नोटस (उपन्यास) — महेंद्र भल्ला
  • रुकोगी नहीं राधिका (उपन्यास) — उषा प्रियवंदा
  • बड़े खिलाड़ी (नाटक)- उपेन्द्रनाथ अश्क
सन् 1968 ई०
  • इमरतिया— नागार्जुन
  • जमनिया के बाबा — नागार्जुन
  • रागदरबारी — श्रीलाल शुक्ल
  • अनन्तर — जैनेंद्र कुमार
  • न आने वाला कल — मोहन राकेश
  • शतुरमुर्ग (नाटक)- ज्ञान अग्निहोत्री
सन् 1969 ई०
  • टोपी शुक्ला (उपन्यास)- राही मासूम रज़ा
  • चिड़ियाघर (उपन्यास) — गिरिराज किशोर
  • आधे अधुरे (नाटक)- मोहन राकेश
  • अँधेरे का बेटा (नाटक) - रेवंतीरमण वर्मा
  • पहला राजा (नाटक) - जगदीश चंद्र माथूर
  • युगे युगे क्रांति (नाटक) - विष्णु प्रभाकर
सन् 1970 ई०
  • कड़ियाँ (उपन्यास)- भीष्म साहनी
  • अग्निशिखा (नाटक)- डॉ० रामकुमार वर्मा
सन् 1971 ई०
  • कदा नैमिषारण्य — अमृतलाल नागर
  • एक चूहे की मौत— बद्दीउजमा
  • बेघर— ममता कालिया
  • आपका बंटी— मन्नु भंडारी
  • मिस्टर अभिमन्यु (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
सन् 1972 ई०
  • मानस का हंस (उपन्यास)- अमृतलाल नागर
  • अंतराल (उपन्यास) — मोहन राकेश
  • द्रौपदी , सेतुबंध (नाटक)- सुरेन्द्र वर्मा 
  • कर्फ्यू (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
  • लौटता हुआ दिन (नाटक) - उपेन्द्रनाथ अश्क
  • देवयानी का कहना है (नाटक) - रमेश बक्शी
सन् 1973 ई०
  • तमस (उपन्यास)- भीष्म साहनी
  • अब्दुल्ला दीवाना (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल 
  • शताब्दी, हम लोग (नाटक) - अमृत राय
सन् 1974 ई०
  • अनाम स्वामी (उपन्यास)- जैनेंद्र कुमार
  • तीस चालीस पचास (उपन्यास) — प्रभाकर माचवे
  • यॉर्स फेथफुली , मरजीवा (नाटक)- मुद्राराक्षस
  • सिंहासन खाली है (नाटक) - सुशील कुमार सिंह
  • टूटते परिवेश (नाटक) - विष्णु प्रभाकर
  • रोशनी एक नदी है (नाटक) - लक्ष्मीकांत वर्मा
सन् 1975 ई०
  • नरक दर नरक (उपन्यास)- ममता कालिया
  • तीसरा हाथी (नाटक)- रमेश बक्शी
सन् 1976 ई०
  • तीसरा आदमी (उपन्यास)- जैनेंद्र कुमार
  • आगामी अतीत (उपन्यास) - जैनेंद्र कुमार
  • शह ये मात (नाटक)- बृजमोहन शाह
सन् 1977 ई०
  • पागल कुत्तों का मसीहा(उपन्यास)- नरेश मेहता
  • एक और द्रोणाचार्य (नाटक)- शंकर शेष
  • आठवाँ सर्ग (नाटक) - सुरेन्द्र वर्मा
  • कथा एक कंस की (नाटक) - दया प्रकाश सिन्हा
  • हानुष (नाटक) - भीष्म साहनी
  • सगुन पंछी (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
सन् 1978 ई०
  • गोबर गणेश (उपन्यास)- रमेशचंद्र शाह
  • घरोंदा (नाटक)- विष्णु प्रभाकर
  • बुलबुल सराय, दुलारी बाई (नाटक) - मणि मधुकर
  • तेन्दुआ (नाटक) - मुद्राराक्षस
सन् 1979 ई०
  • एक चिथड़ा सुख (उपन्यास)- निर्मल वर्मा
  • चितकोबरा (उपन्यास)- मृदुला गर्ग
  • राम की लड़ाई (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
  • कसे हुए तार (नाटक)- रमेश बक्शी
  • उत्तर उर्वशी (नाटक) - हम्मीदुला
  • पांचवाँ सवार (नाटक) - बलराज पंडित
  • बादशाह गुलाम बेगम (नाटक) - गिरिराज किशोर
सन् 1980 ई०
  • कुरु कुरु स्वाह (उपन्यास)-मनोहर श्याम जोशी
  • बसंती (उपन्यास) — भीष्म साहनी
  • इकतारे की आँख (नाटक)- मणि मधुकर
  • ठहरी हुई जिन्दगी (नाटक) - लक्ष्मीकांत वर्मा
  • कजरी वन (नाटक) - लक्ष्मीनारायण लाल
सन् 1981 ई०
  • बीच की दीवार — अमरकांत
  • किशनगढ़ का अहेरी- संजीव
  • खंजननयन— अमृतलाल नागर
सन् 1982 ई०
  • सुबह दोपहर शाम (उपन्यास)- कमलेश्वर
  • छोटे सैयद बड़े सैयद (नाटक)- सुरेन्द्र वर्मा
सन् 1983 ई०
  • दशार्क (उपन्यास)- जैनेंद्र कुमार
  • बलराम की तीर्थ यात्रा (नाटक)- लक्ष्मीनारायण लाल
सन् 1984 ई०
  • मैं और मैं (उपन्यास)- मृदुला गर्ग
  • बिना दरवाजे का मकान (उपन्यास) — रामदरश मिश्र
  • माधवी (नाटक)- भीष्म साहनी
  • दंगा (नाटक) - ज्ञान अग्निहोत्री
सन् 1985 ई०
  • करवट (उपन्यास)- अमृतलाल नागर
  • काजर की कोठरी (नाटक)- मृणाल पांडेय
सन् 1986 ई०
  • दूसरा घर - रामदरश मिश्र
  • सावधान! नीचे आग है- संजीव
सन् 1987 ई०
  • शाल्मली (उपन्यास)- नासीरा शर्मा
  • कहै कबीर सूनो भाई साधो (नाटक) नरेंद्र मोहन
सन् 1988 ई०
  • यादास की माड़ी — भीष्म साहनी
  • नीला चान्द — शिवप्रसाद सिंह
  • बंधन — नरेंद्र कोहली
सन् 1989 ई०
  • रात का रिपोर्टर — निर्मल वर्मा
  • ठीकरे की मंगनी — नासीरा शर्मा
सन् 1990 ई०
  • आओ पे पे घर चलें (उपन्यास)- प्रभा खेतान
  • शकुंतला की अँगुठी (नाटक)- सुरेन्द्र वर्मा
सन् 1991 ई०
  • ढ़ाई घर (उपन्यास)- गिरिराज किशोर
सन् 1992 ई०
  • मीनारें (उपन्यास)- शशिप्रभा शास्त्री
सन् 1993 ई०
  • जिन्दा मुहावरे -(उपन्यास)— नासिरा शर्मा
सन् 1994ई०
  • अपने - अपने चेहरे (उपन्यास)- प्रभा खेतान
सन् 1995 ई०
  • अपने - अपने कोणार्क (उपन्यास)- चन्द्रकांता
सन् 1996 ई०
  • हमजाद (उपन्यास)- मनोहर श्याम जोशी
सन् 1997 ई०
  • यातनाघर (उपन्यास)- गिरिराज किशोर
  • एक पत्नी के नोटस (उपन्यास) — ममता कालिया
सन् 1998 ई०
  • कलिकथा -बायां बाईपास(उपन्यास)-अल्का सरावगी
सन् 1999 ई०
  • सुनो भाई साधो (उपन्यास)- शत्रुघ्न प्रसाद
  • पहला गिरमिटिया (उपन्यास) — गिरिराज किशोर
सन् 2000 ई०
  • नीलू नीलिमा निलोफर — भीष्म साहनी
  • अंतिम अरण्य — निर्मल वर्मा
  • कितने पाकिस्तान— कमलेश्वर
  • समय सरगम - कृष्णा सोबती
  • खुले गगन के लाल सितारे- मधु कांकरिया


Share:

कोई टिप्पणी नहीं: